Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

पाकिस्तान पर भारत का एक और ‘स्ट्राइक’, सफेद झंडा लेकर आओं और लाशें ले जाओ....

श्रीनगर: चाहे वो जंग का मैदान हो, या कुटनीतिक मसला, या फिर कोई अंतरराष्ट्रीय मुद्दा ही क्यों न हो, हर जगर भारत के खिलाफ मुंह की खानी के बाद भी पाकिस्तान अपने कायरतापूर्ण रवैये में कोई सुधार नहीं कर रहा। पाकिस्तानी पीएम इमरान खान भल ही सार्वजनिक मंचों से शांति की बंसी बजाते हैं, लेकिन पाकिस्तान का दोगला चरित्र तब जगजाहिर हो जाता है, जब खान की शांति राग के बीच उनकी सेना समर्थित आतंकवादी दहशतगर्ती के झंडे बुलंद कर देते हैं।

पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद ते तंग जम्मू-कश्मीर में पुलिस की एडवायजरी और फौज की नयी कंपनियों की तैनाती से फीजा में तैरते अफवाहों के बीच कश्मीर और कश्मीरयत की सुरक्षा में मुसतैद जवानों के हाथ बड़ी सफलता आई है। यहां केरन सेक्टर में शनिवार को पाकिस्तानी की बॉर्डर एक्शन टीम यानी BAT की ओर से की जा रही घुसपैठ की साजिश को भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया।

इस कार्रवाई में पाक सेना या फिर आतंकियों के पांच से सात लोगों के मारे जाने की खबर से पाकिस्तान तिलमिला उठा है। लेकिन अपनी हरकतों से लाचार पाकिस्तान अपने दहशतगर्दों को अपनाने को भी तैयार नहीं। जबकि भारतीय सेना ने पाकिस्तान से साफ कहा है कि वह सफेद झंडा लेकर आए और इन शवों को लेकर जाए। लेकिन पाकिस्तान की ओर से कोई जवाब नहीं आया है।

इसके अलावा आतंकवादियों के खिलाफ भारतीय सेना का ऑल आउट ऑपरेशन भी रंग लगा रहा है। पिछले 36 घंटे में घाटी में जैश के 4 आतंकवादी को मार सेना ने अपने ऑपरेशन को धार दी है। मारे गए आतंकियों के पास से स्नाइपर राइफ़ल, IED और पाक में बनी बारूदी सुरंग भी बरामद हुई है। जिससे किसी बड़ी आतंकी घटना की आशंका दिख रही है। तो वहीं पूंछ ज़िले के मेंढर सेक्टर में पाकिस्तानी सेना लगातार सीज़फ़ायर का उलंघन भी कर रही है। पाक की ओर से छोटे हथियारों से फ़ायरिंग की गई और मोर्टार से गोले भी दागे गए।

सेना के अनुसार पाकिस्तान सेना आतंकियों को घुसपैठ कराने में न केवल लगी रहती है बल्कि उन्हें हथियार भी मुहैया कराती है। ये बात भारतीय सेना हमेशा डीजीएमओ लेवल बातचीत में उठाती रही है। साथ ही भारतीय सेना ने साफ किया है कि हम अपने खिलाफ हर हिमाकत का मुहं तोड़ जवाब देते रहेंगे।

loading...