Breaking News
  • दिल्ली के उस्मानपुर में प्रॉपर्टी डीलर का मर्डर, बदमाशों ने चलाईं अंधाधुंध गोलियां
  • जापान चुनाव: शिंजो आबे की पार्टी ने आम चुनावों में जीत हासिल कर की वापसी
  • हिमाचल: 9 नवंबर को विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन दाखिल करने का आज अंतिम दिन
  • उत्तराखंड बना देश का चौथा खुले में शौच से मुक्त राज्य

भारत ने कहा कि चीन ज्यादा हिमायती बनने की कोशिश न करे

नई दिल्ली: चीन द्वारा जम्मू कश्मीर मामले पर भारत पाकिस्तान की मध्यस्थता करने की बात को लेकर भारत ने दो टूक चीन को जवाब देते हुए कहा है कि जम्मू कश्मीर भारत और चीन का द्विपक्षीय मामला है, इसमें किसी के हस्तक्षेप की जरूरत नहीं है।

भारत चीन सीमा विवाद को लेकर लगातार विवाद बढ़ता ही जा रहा है। दोनों देशों के बीच गतिरोध कम होने का नाम नहीं ले रहा है, हाल ही दिनों में चीन ने भारत पाकिस्तान के बीच जम्मू कश्मीर मामले पर हस्तक्षेप करने को लेकर भारत ने साफ़ शब्दों में कहा है कि यह भारत और पाकिस्तान के बीच का मसला है।

इस पर भारत को किसी के हस्तक्षेप की जरूरत नहीं समझता है। भारत का कहना है कि वह पाकिस्तान मुद्दे पर पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय वार्ता के लिए तैयार है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा कि हमारा पक्ष बिल्कुल स्पष्ट है।

आप जानते ही हैं कि इस विवाद का मुख्य मुद्दा एक खास देश द्वारा सीमा-पार आतकंवाद को बढ़ावा दिया जाना है, जिसकी वजह से देश, क्षेत्र और पूरी दुनिया को खतरा है। ऐसे में कश्मीर मुद्दे पर चीन की मध्यस्तता की बात परे है। भारत पाकिस्तान के बीच पहला मुद्दा सीमा पार से आने वाला आतंकवाद ही है।

loading...