Breaking News
  • कर चोरी के मामले में पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह और उनके बेटे पर चार्जशीट दायर
  • अमृतसर में HeartofAsia सम्मेलन का आगज, पीएम मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति होंगे शामिल
  • पाकिस्तान की ओर से सरताज अजीज बैठक में लेंगे हिस्सा

मेड इन इंडिया ड्रोन रुस्तम-।। का टेस्ट कामयाब…

NEW DELHI:- बुधवार को भारत ने लड़ाकू क्षमता वाले अपने स्वदेशी यान रुस्तम-2 का पहला सफल परीक्षणकिया। डीआरडीओ ने तापस 201 (रुस्तम-2) का सफल परीक्षण किया जो मध्य उंचाई पर लंबी अवधि का मानवरहित विमान है।

मानवरहित वायुयान के भारत में विकास कार्यक्रम को रुस्तम-2 का सफल परीक्षण पूरा करने के से प्रोत्साहन मिला है। रुस्तम-2 की सबसे बड़ी खूबी ये है कि ये 24 घंटे तक उड़ान भर सकता है और देश के सशस्त्र बलों के लिए टोही मिशन का काम कर सकता है।

इस मानवरहित यान को अमेरिका के प्रिडेटर ड्रोन की भांति मानवरहित लड़ाकू यान के रूप में उपयोग में लाया जा सकता है।

इस परीक्षण बेंगलुरू से करीब 250 किलोमीटर दूर चित्रदुर्ग में एयरोनॉटिकल टेस्ट रेंज से किया गया जो मानवरहित यानों एवं मानवविमानों के परीक्षण के लिए नवविकसित उड़ान परीक्षण स्थल है। तापस 201 का डिजाइन और विकास डीआरडीओ की बेंगलुरु की प्रयोगशाला एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एस्टैब्लिशमेंट और एचएएल-बीईएल ने मिलकर किया है।

इसका वजन दो टन है और डीआरडीओ के युवा वैज्ञानिकों की एक समर्पित टीम ने इसका परीक्षण किया। इसमें सशस्त्र बलों के पायलटों ने सहयोग किया।