Breaking News
  • सोनभद्र जाने पर अड़ी प्रियंका गांधी, धरने का दूसरा दिन
  • असम और बिहार में बाढ़ से 150 लोगों की गई जान, 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित
  • इलाहाबाद हाइकोर्ट ने पीएम मोदी को जारी किया नोटिस, 21 अगस्त को सुनवाई
  • कर्नाटक पर फैसले के लिए अब सोमवार का इंतजार

जीता हिदुस्तान, हारा पाकिस्तान, कायम रहा इतिहास- पढ़ कर गर्व करेंगे!

मैनचेस्टर: अगर किसी चीज को पूरी शिद्दत से चाहो तो सारी कायनात आपको उससे मिलाने में जुट जाती है। आज ये यादें फिर से ताजा हो गई, जब मैनचेस्टर के ऐतिहासिक ट्रेड ओल्ड ट्रेफर्ड ग्राउंड पर भारतीय शेरों ने अपने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को चारो खाने चीत कर दिया।

जीता हिदुस्तान, हारा पाकिस्तान और आज भी कायम रहा इतिहास...

वैसे तो क्रिकेट के महाकुंभ का आगाज 30 मई 2019 को ही हो चुका है, लेकिन सवा सौ करोड़ भारतीय फैंस के लिए विश्व कप का आगाज सही मायने में 16 जून को हुआ, जब टीम इंडिया अपने प्रशंसकों की उम्मीदों पर शत प्रतिशत खरी उतरी।  

इंग्लैंड में जारी विश्व कप में रविवार 16 जून को सबसे हाईवोल्टज मुकाबले से पहले न सिर्फ भारत और पाकिस्तान बल्कि पूरी दुनिया की निगाहें मैनचेस्टर के ऐतिहासिक ट्रेड ओल्ड ट्रेफर्ड ग्राउंड पर ही टिकी थी। लोगों को इस बात का डर सता रहा था कि कहीं, भारत-पाकिस्तान का महामुकाबला भी बारिश की भेंट न चढ़ जाए।

विश्व के तहत दो मैचों में लगातार जीत के बाद तीसरे मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ बारिश के कारण अंक बंटवारे को मजबूर हुई टीम इंडिया हर हाल में पाकिस्तान को परास्त करना चाहती थी। लेकिन मैसम विभाग का अनुमान टीम इंडिया के अरमानों पर भारी पड़ रहा था।

जैसा कि पहले से अनुमान लगाया गया था... भारत-पाकिस्तान के बीच मैच में बारिश की दखनदाजी भी हुई, लेकिन इसके बाद भी नियति को कुछ और ही मंजूर था। लिहाजा बारिश के बाद भी पाकिस्तान अपनी हार नहीं बचा सका। भारत को हराकर इतिहास बदलने का सपना संजयो पाकिस्तानी टीम की जब आंख खुली को सपना, सपना ही रह गया।

दरअसल, 16 जून के मुकाबले को मिलाकर विश्व कप में भारत पाकिस्तान कुल 12 बार एक दूसरे से भिड़ चुकी है, और हर बार जीत भारत के खाते में आई। इन 12 मुकाबलों में 7 मुकाबले ओडीआई (50 ओवर) के जबकि 5 मुकाबले टी20 (20 ओवर) के हैं। जिनमें पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा।

विश्व कप 2019 के में इतिहास बदलने के इरादे से जब पाकिस्तानी टीम भारत के खिलाफ मौदान में उतरी तो सब कुछ उसके ही हिसाब से हुआ। टॉस का सिक्का पाकिस्तान के हाथ लगा, लेकिन शायद पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद ने टॉस जीतकर सबसे बड़ी गलती कर दी।

दरअसल, पाकिस्तानी कप्तान ने टॉस जीतकर बल्ला भारत के हाथों में थमा दिया। विरोधी की ललकार से लवरेज भारत की सलामी जोड़ी लोकेश राहुल और रोहित ने मैदान पर दस्तक दी और तेज रफ्तार पाकिस्तानी गेंदबाजों की हवा निकाल दी। ऐसा लगा जैसे दुनिया भर में शानदार गेंदबाजी के लिए मशहूर पाकिस्तानी गेंदबाजों की रफ्तार धरी की धरी रह गई।

पाकिस्तान की धारदार गेंदबाजी से इतर रोहित शर्मा ने 113 गेंद में 140 रनों की जबरदस्त पारी खेली। तो 78 गेंद में 57 रन लगाने वाले लोकेश राहुल ने भी शर्मा का भरपूर साथ दिया। जबकि कप्तना विराट कोहली की 65 गेंद में 77 रनों की शानदार पारी टीम इंडिया के लिए संजीवनी साबित हुई। इसके अलावा हार्दिक पांड्या 19 गेंद 26 रन, एमएस धोनी 2 गेंद 1 रन, विजय शंकर 15 गेंद में नाबाद 15 रन और केदार जाधव 8 गेंद में नाबाद 9 रन बनाए। जिसकी बदौलत टीम इंजडिया ने पाकिस्तान को 337 रनों का लक्ष्य दिया।

भारत से मिले इस भारी-भरकम लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तानी टीम न को पहला झटका इमाउल हक (7) के रूप में लगा। हालांकि इसके बाद फकर जमा (62) और बाबर आजम की (48) रनों की शानदार पारी, एक समय टीम इंडिया के लिए खतरनाक साबित हो रही थी। लेकिन जल्द की कुलदीप यादव ने कलाकारी का नायाब नमूना पेश किया और दोनों बल्लेबाजों को एक के बाद एक ढेर कर मैच में टीम इंडिया की वापसी कराई। रही सही कसर हार्दिक पांड्या और विजय शंकर ने पूरी कर दी। जिसका नतीजा रहा कि 40 ओवर के खेल के बाद पाकिस्तानी टीम 6 ओवर खोकर 212 रन ही बना सकी। और इस तरह से बारिश के कार कई बार बाधित हुए मैच को भारत ने DLS के अनुसार 89 रनों से जीत लिया।

विश्व 2019 में यह भारत की लगातार तीसरी जीत रही। इस जीत के साथ अब टीम इंडिया 4 मैचों में तीन जीत के बाद 7 अंकों (न्यूजीलैंड-भारत का मुकाबला बारिश के कारण नहीं हो सका, लिहाजा दोनों टीमों को 1-1 अंक से संतोष करना पड़ा)  के साथ अंक तालिका में तीसरे स्थान पर है। जबकि 5 मैचों में 1 जीत और 3 हार (एक मैच बारिश के कारण रद्द हुआ जिसके बदले 1 अंक पाकिस्तान को भी मिला) के बाद 3 अंकों के साथ पाकिस्तान नीचे से दूसरा, यानी 9वें नंबर पर जा पहुंची हैं।

पाकिस्तान के खिलाफ भारत की ओर से सबसे अधिक 140 रन बनाने वाले रोहित शर्मा ने वडने करीयर का 24वां शतक जमाया। जबकि विश्व कप 2019 में भारती के लिए दो शतक लागाने वाले रोहित शर्मा एक मात्र ऐसे बल्लेबाज है।

आज के मैच में 71 रन बनाने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेजी से 11000 रन पूरे करने का रिकॉर्ड अपने नाम किया। ऐसा कर कोहली ने क्रिकेट के भागवान कहे जाने वाले सचिन तेंडुलकर को भी पीछे छोड़ दिया। बता दें कि सचिन ने 284वें मैच की 276वीं पारी में 11000 रन पूरे किए थे। जबकि कोहली ने अपने 230वें एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच की 222वीं पारी में यह कीर्तिमान हासिल किया है।

loading...