Breaking News
  • सोनभद्र जमीन मामले में अब तक 26 आरोपी गिरफ्तार, प्रियंका करेंगी मुलाकात
  • वेस्टइंडीज दौरे के लिए रविवार को 11:30 बजे होगा टीम इंडिया का चयन
  • बिहार : बाढ़ से अब तक 83 लोगों की मौत
  • कर्नाटक में आज दोपहर डेढ़ बजे तक सरकार को साबित करना होगा बहुमत

पीएम मोदी के इस पत्र को देखकर इमरान भी हो गए सन्न, लिखा ऐसा पत्र...

नई दिल्ली : शंघाई सहयोग संगठन में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को उनका आईना दिखाने के बाद एक बार फिर पीएम मोदी ने इमरान को अपने पत्र के जरिए कड़ा तमाचा जड़ा है। जिससे वे सन्न हो गए है। दरअसल बात यह है कि लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत से जीतने के बाद इमरान खान ने पीएम मोदी को बधाई दी थी, जिसके बाद उन्होंने मोदी को एक पत्र लिखकर वार्ता करने की बात कहीं थी। जिसमें उन्होंने गरीबी से मिलकर लड़ने की बात कहीं थीं।

जिसका जवाब देते हुए पीएम मोदी ने भी इमरान को एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने एक बार फिर इमरान को यह याद दिला दिया कि अब वार्ता आतंक और आतंकवाद पर अंकुश लगाने के बाद ही होगा। जिससे इमरान के उन सभी अरमानों पर पानी फिर गया है, जो उन्होंने सोच रखा था। बता दें कि 14 फरवरी को आतंकियों द्वारा पुलवामा में अटैक करने के बाद भारत सरकार ने बालाकोट में सर्जिकल स्ट्राइक कर आतंकियों के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था। जिसमें तकरीबन 140 आतंकी मारे गये थे।

जिसके बाद भारत सरकार ने भारतीय सीमा से होने वाले सभी आयात औऱ निर्यात पर रोक लगा दिया था। जिससे पाकिस्तान के हालात काफी खराब हो गये। अनकों सामानों के दाम लगातार आसमां छू रहे है, एक-एक रोटी के लिए पाकिस्तान को काफी जद्दोजहद करना पड़ रहा है, लेकिन अब पीएम मोदी का यह पत्र इमरान को उनके कर्तव्यों को याद दिलाने के लिए काफी है।

बता दें कि शंघाई बैठक में इमरान और पीएम मोदी दोनों मौजूद थे, लेकिन पीएम मोदी ने उन्हें दरकिनार करते हुए सभी नेताओं के साथ बैठक की, वहीं इमरान को आतंकवाद के मुद्दे पर भी घेरा।   

उसके बाद किर्गिस्‍तान की राजधानी में आयोजित शंघाई सहयोग संगठन यानी एससीओ (SCO) शिखर सम्‍मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के बीच सिर्फ अभिवादन हुआ लेकिन बातचीत नहीं हुई। ऐसा कर पीएम मोदी ने पाकिस्तान से जारी तल्खी का एक और सबूत पेश किया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद को प्रोत्साहन, समर्थन और धन मुहैया कराने वाले देशों की कड़ी आलोचना करने के साथ ही आतंकवाद के खिलाफ जंग में सभी देशों से सहयोग का आग्रह किया।

loading...