Breaking News
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मध्य प्रदेश के एक दिवसीय यात्रा पर
  • अमेरिका का दक्षिण कोरिया के साथ संयुक्त सैन्याभ्यास रद्द
  • जम्मू-कश्मीर: सेना ने 22 आतंकियों की हिट लिस्ट तैयार की
  • JK: PDP के साथ गठबंधन टूटने के बाद श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर BJP की रैली

बड़ी खबर: दिल्ली-एनसीआर में बढ़े प्रदूषण पर सरकार ने लिया बड़ा फैसला

नई दिल्ली: दिल्ली एनसीआर में हालात गैस चैंबर जैसे हो गये हैं। तेज आंधी और तूफ़ान के बाद आसमान धूल के गुबार ने लोगों की जिन्दगी मुहाल कर दी है। इसी बीच केंद्र सरकार ने दिल्ली-एनसीआर में सभी निर्माण कार्यों पर रोक लगा दी है।

बतादें कि पिछले दो दिनों से दिल्ली एनसीआर सहित कई क्षेत्रों में धूल भरी आंधी के बाद आसमान में धूल का बड़ा गुबार सा छाया हुआ है। जिससे लोगों को सांस लेने में घुटन सी महसूस हो रही है। वहीँ इतना सब होने के बाद भी दिल्ली एनसीआर में निर्माण कार्य जारी है। लेकिन अब केंद्र सरकार ने स्थित सामान्य होने तक सभी निर्माण कार्यों पर रोक लगा दी है। गुरुवार को मीडिया में जारी खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि दिल्ली में बढ़े प्रदूषण के चलते सारे निर्माण कार्यों को रोक दिया गया है।

पीएम मोदी के आवास के ऊपर उड़ता दिखाई दिया UFO, जारी हुआ अलर्ट...

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने अपने आदेश में कहा है कि प्रदूषण के स्तर और आसमान में धूल के गुबाह को देखते हुए सभी तरह के निर्माण कार्यों पर रोक लगाई गयी है। साथ ही यह रोक हालात सामान्य होने तक रोक लगी रहेगी। इस रोक में स्टोन क्रशर के काम पर भी तुरंत रोक लागू कर दी है। वहीँ अगर आसमान से धूल का गुबार खत्म न हुआ तो फायर ब्रिगेड से पानी का छिड़काव होगा और मशीनों से दिल्ली की सड़कों की सफ़ाई होगी। इस हालात पर 3 बजे उपराज्यपाल बैठक करेंगे।

अभी अभी: ईद की छुट्टी मनाने जा रहे जवान का आतंकियों ने किया अपहरण

इस बैठक में केन्‍द्रीय मंत्री नितिन गडकरी, मुख्‍यमंत्री और पर्यावरण मंत्री डॉ हर्षवर्धन में शामिल हो सकते है लेकिन दिल्ली के सीएम अभी एलजी हाउस पर धरना दिए हैं ऐसे में उनके पहुँचने की संभावना कम ही है। हालांकि इस बैठ में कोई अन्य जिम्मेदार शामिल हो सकता है। वहीँ धूल के ग़ुबार के कारण चंडीगढ़ हवाई अड्डे पर विमानों का आवागमन भी ठप्प हो गया है। विजिबिलिटी कम होने के कारण विमान सेवाएं रोकी गयीं हैं।यह भी देखें-

loading...