Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

गर्मी के बाद भयंक बाढ़ की मार, असम में बिहार में कईयों की मौत

नोएडा: भीषण गर्मी की ताप झेल रहा पूरा हिंदुस्तान अब बाढ़ की चपेट में आता दिख रहा है। मॉनसूनी बारिश और पड़ोसी देश नेपाल से आए बाढ़ के पानी के मिलेजुले असर से देश के कई राज्‍यों में बाढ़ का संकट पैदा हो गया है। असम के अधिकांश जिले ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियों की वजह से बाढ़ग्रस्‍त हो चुके हैं।

तो इधर गर्मी से सौकड़ों जिंदगिया खो चूके बिहार में कोसी बैराज के सभी 56 गेटों को खोल देने के बाद राज्य में बाढ़ की स्थिति रविवार को और भयावह हो गई है। बाढ़ की वजह से बिहार में 4 और असम में 11 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है, जबकि पश्चिम बंगाल के उत्‍तरी जिलों और यूपी के पूर्वी जिलों में भी नदियों का जलस्‍तर तेजी से बढ़ने से निचले इलाकों में पानी भर गया है।

बारिश ने पंजाब और हरियाणा के बड़े हिस्सों को भी प्रभावित किया है। पानी खतरनाक स्‍तर तक पहुंच गया है। दूसरी तरफ नेपाल में लगातार बारिश जारी है। प्रभावित इलाकों में मोबाइल और बिजली सेवाएं बाधित हुई हैं। मौसम विभाग ने सोमवार दोपहर तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

भारी बारिश की वजह से बिहार की तमाम नदियों में बाढ़ का पानी 600 और गांवों में फैल चुका है। जिनमें सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, अररिया, किशनगंज, सुपौल, दरभंगा और मुजफ्फरपुर जिलों के 55 ब्‍लॉक क्षेत्रों के 352 पंचायतों के तहत आते हैं। उत्‍तरी बिहार के इन नौ जिलों के करीब 18 लाख लोग बाढ़ का दंश झेल रहे हैं।

loading...