Breaking News
  • सोनभद्र जमीन मामले में अब तक 26 आरोपी गिरफ्तार, प्रियंका करेंगी मुलाकात
  • वेस्टइंडीज दौरे के लिए रविवार को 11:30 बजे होगा टीम इंडिया का चयन
  • बिहार : बाढ़ से अब तक 83 लोगों की मौत
  • कर्नाटक में आज दोपहर डेढ़ बजे तक सरकार को साबित करना होगा बहुमत

शाह के बयान पर फारूख का बड़ा बयान, कहा ...इसे स्वीकार किया था तब भी अस्थाई

नोएडा : जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की मीयाद 6 महीने बढ़ाने का प्रस्ताव लोकसभा के बाद राज्यसभा से भी सर्वसहमति से पास करा लिया गया है। लेकिन संसद में प्रस्ताव पेश करते हुए गृह मंत्री अमित ने जम्मू-कश्मीर को लेकर कुछ ऐसे दावे किए जिसपर सियासी संग्राम छिड़ी है। संसद में प्रस्ताव पेश करते हुए शाह ने कश्मीर की मौजूदा स्थिति के लिए नेहरू से लेकर सोनिया तक को कोसा। साथ ही धारा 370 को भी अस्थाई करार दिया।

शाह के इसी बयान पर नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुख अब्दुल्ला ने बड़ा बयान दिया है। अब्दुल्ला ने कहा कि धारा 370 अस्थाई है तो जम्मू कश्मीर का अधिग्रहण भी अस्थाई है। वे यहीं नहीं रूके, उन्होंने इसका तर्क भी दिया, फारूख ने कहा कि जब महाराजा ने इसे स्वीकार किया था तब भी यह अस्थाई था। उस समय कहा गया था कि आगे का फैसला जनमत संग्रह के आधार पर होगा।

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर का मसला बीते काफी समय से सवालों के घेरे में रहा, लेकिन केंद्र की सत्ता में दूसरी बार वापसी करने वाली मोदी सरकार की नीतिया सालों पुरानी समस्या से निदान की ओर बढ़ता दिख रहा है। लेकिन अंतिम फैसले को लेकर फिलहाल अभी कुछ नहीं कहा जा सकता।

loading...