Breaking News
  • लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भाजपा ने जारी किए 7 और उम्मीदवारों के नाम, दिल्ली से चार
  • श्रीलंका: आतंकियों ने चर्च सहित 8 जगहों को बनाया निशाना, कई विदेशी नागरिक भी मारे गए
  • श्रीलंका: सिलसिलेवार धमाकों में मरने वालों की संख्या 290, 400 ज्यादा लोग घायल
  • कोलकाता में बोले अमित शाह- बीजेपी की रैलियों को ममता सरकार इजाजत नहीं दे रही है

चुनावी समर में योगी-मायावती के खिलाफ कड़ कार्रवाई, आयोग ने लगाया बैन

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के सियासी महासमर के बीच नेताओं के विवादित बोल का सिलसिला लगातार जारी है। आय दिन नेता एक दूसरे को निशाना बनाते हुए अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ चुनाव जीतने की होड़ में लगे नेता जाति-धर्म के नाम पर भी वोट बटोरने के फिराक में हैं। इस बीच चुनाव आयोग ने सख्ति दिखाते हुए कड़ा एक्शन लिया है, जिससे ऐसा लगता है कि अब बेलगमा नेताओं के जुबान पर हल्की लगाम लग सकती है।

दरअसल, विवादित बयानों के कारण आलोचनाओं में घिरे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती के खिलाफ कार्रवाई करते हुए आयोग ने प्रचार करने पर रोक लगा दी है। आयोग के अनुसार योगी के लिए 72 घंटे तक और मायावती 48 घंटे तक किसी भी प्रकार के चुनावी गतिविधियों में शामिल नहीं हो सकते हैं। आयोग की ओर से लगाई गई रोक मंगलवार सुबह 6 बजे से शुरू होगी।

चुनाव आयोग के इस आदेश के अमल में आने के बाद दोनों नेता चुनावी रैली नहीं कर सकेंगे। किसी टीवी चैनल व अन्य मीडिया को इंटरव्यू नहीं दे सकेत, सोशल मीडिया पर कोई चुवाली पोस्ट नहीं कर सकते। किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सकते, साथ ही रोड शो करने पर भी पाबंदी लगाई गई है।

आपको बता दें कि मायावती और योगी आदित्यनाथ अपनी-अपनी पार्टी के लिए स्टार प्रचार हैं। जो किसी एक प्रदेश में नहीं बल्कि देश के अलग-अलग हिस्सों में भी चुनावी सभाएं करते रहे हैं। ऐसे में आयोग द्वारा लगाई गई पाबंदी का बुरा असर पार्टी की प्रचार गाड़ी पर भी पड़ सकता है।

loading...