Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • रूसी तट के पास गैस से भरे 2 पोत में आग लगने से 11 की मौत, 15 भारतीय भी थे सवार
  • जम्मू-कश्मीर: भारी बर्फबारी के बीच सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट, 24 घंटे में 5 आतंकी ढेर
  • वाराणसी: 15वे प्रवासी सम्मेलन में पीएम मोदी, लोग पहले कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता. हमने इस सोच को ही बदल डाला
  • नेपाल ने लगाया 2000, 500 और 200 रुपए के भारतीय नोटों पर बैन

आंधी-तूफान: यूपी में 14 की मौत, दिल्ली-एनसीआर में इमरजेंसी से हालात!

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में एकबार फिर से तूफ़ान ने अपना कहर मचाया है। बुधवार को तेज आंधी से अबतक 14 लोगों के मारे जाने की खबर आई है। वहीँ मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटे में एकबार फिर से तूफ़ान की चेतावनी जारी की है। वहीँ दिल्ली एनसीआर में आसमान में धूल छा जाने से हालात खराब हो रहे हैं।

बतादें कि उत्तर भारत के कई राज्यों में आंधी और तूफ़ान के कारण मौसम ने बड़ी करवट मारी है। उत्तर भारत के कई राज्यों में भारी बारिश शुरू हो गयी है तो वहीँ बुधवार को उत्तर प्रदेश में तेज धुल भरी आंधी ने तूफ़ान का रूप रखकर जमकर तबाही मचाई है। इस तूफ़ान में 14 लोगों की जान चली गयी है। उत्तर प्रदेश में बुधवार को तेज आंधी-बारिश अलग-अलग जगहों पर कम से कम 14 लोगों के मारे जाने की खबर है। वहीँ प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में आए तूफान ने एक बार फिर तबाही मचा दी है।

आखिर कब तक: जम्मू कश्मीर में दो दिन में पांच जवान शहीद

इसके साथ ही मौसम विभाग ने बुधवार को तेज आंधी-तूफान की आशंका जताई थी। वहीँ आगे गुरुवार को भी विभाग ने प्रदेश के कुछ इलाकों में आंधी-तूफान की चेतावनी जारी की है। उत्तर प्रदेश के सीतापुर में दीवार और पेड़ गिरने से 2-2 लगों की मौत हो गयी। अवध के जिलों में सात लोगों की मौत की खबर है। जिसमें सीतापुर के चार, गोंडा में दो और फैजाबाद के एक की मौत है। वहीँ कन्नौज और कौशांबी में भी दो-दो और हरदोई में एक की मौत की खबर है।

स्वास्थ्य बुलेटिन: अटल बिहारी वाजपेयी को लेकर एम्स से आयी बड़ी खबर...

बुधवार को दिल्ली एनसीआर में धूल का गुबार छाया रहा और केन्द्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने अनुमान व्यक्त किया कि अगले तीन दिन तक यह धुंध छाई रह सकती है। जिससे लोगों को सांस लेने में भी तकलीफ हो रही है। ऐसे में अगर तेज बारिश न हुई तो यह आसमानी धुल बीमार लोगों और बच्चों के लिए काफी नुकसानदेह साबित हो सकती है।

यह भी देखें-  

loading...