Breaking News
  • अयोध्या मामले में 2 अगस्त से खुली कोर्ट में सुनवाई, 31 जुलाई तक मध्यस्थता की प्रक्रिया
  • महाराष्ट्र में गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस पटरी से उतरी
  • अमरनाथ यात्रा पर आतंकी कर सकते हैं आतंकी हमला : सूत्र
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार का शक्ति परीक्षण, 2 बसों में विधानसभा पहुंचे BJP विधायक

ममता की चिट्ठी पर डॉक्टरों का अल्टीमेटम, 48 घंटे में पूरी करें मांग, नहीं तो गंभीर परिणाम

पश्चिम बंगाल अस्पताल में हुई हिंसा और ममता के कड़े रूख के बाद डॉक्टरों का हड़ताल पांचवें दिन भी जारी है। आपको बता दें कि ममता ने चिट्ठी लिखकर डॉक्टरों को हड़ताल खत्म करने की अपील की थी, जिसके जवाब में डॉक्टरों ने एक नई लिस्ट जारी की है। जिसमें ममता को बिना शर्त माफी और डॉक्टरों को सुरक्षा मुहैया करना संबंधित है। इसके लिए डॉक्डरों ने ममता को 48 घंटों का अल्टीमेटम दिया है, अगर ममता डॉक्टरों का यह अल्टीमेटम स्वीकार नहीं करती हैं तो वे फिर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे। बता दें कि बंगाल के डॉक्टरों की हड़ताल का समर्थन देशभर के डॉक्टरों का मिल रहा है। जिसे लेकर आज भी यानी शनिवार को 18 अस्पतालों के डॉक्टर हड़ताल पर रहेंगे, जिसमें एम्स और सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टर भी शामिल है। वहीं जम्मू-कश्मीर और लेह के भी डॉक्टर सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे।

हड़ताल पर रहेंगे दिल्ली के इन अस्पतालों के डॉक्टर भी

राजधानी दिल्ली के 14 बड़े अस्पताल समेत 18 अस्पतालों के डॉक्टर भी में आज यानी शनिवार को हड़ताल पर रहेंगे। जिसमें प्रमुख बाबा साहेब अम्बेडकर मेडिकल कालेज एंड हॉस्पिटल हिंदूराव हॉस्पिटल बीएमएच दिल्ली, दीनदयाल उपाध्याय हॉस्पिटल, संजय गांधी मेमोरीयल हॉस्पिटल, लेडी हार्डिंग मेडिकल कालेज एंड एसोसिएटेड हॉस्पिटल्स, इंस्टीट्यूट ऑफ ह्यूमन बिहेवियर एंड एलाइड साइंसेज़ श्री दादा देव मैत्री एवं शिशु चिकित्सालय नॉर्दन रेलवे हॉस्पिटल, ईएसआईसी हॉस्पिटल, चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय, गुरु तेग बहादुर हॉस्पिटल और गुरु गोविंद सिंह हॉस्पिटल आदि शामिल है। बता दें कि फेडरेशन ऑफ रेसीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के बैनर के जरिए इन अस्पतालों के डॉक्टरों ने हड़ताल की लिखित सूचना अपने मेडिकल सुपरिटेंडेंट को दे दी है।

डॉक्टरो के इस व्यापक हड़ताल पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को डॉक्टरों से हड़ताल खत्म करने की अपील की है। इसके साथ ही उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि ममता के अल्टीमेटम के कारण देशभर के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए है। जिसके बाद हर्षवर्धन ने कहा कि वह पूरे देश के अस्पतालों में उनके लिए सुरक्षित माहौल सुनिश्चित करने के लिए संभव कदम उठाएंगे।

आपको बता दें कि ममता के उस कदम की वज़ह से अब तक 150 से अधिक डॉक्टरों ने इस्तीफा दे दिया। गौरतलब है कि शुक्रवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आंदोलनकारी जूनियर डॉक्टरों को राज्य सचिवालय में बैठक के लिये बुलाया थी, जिसे डॉक्टरों ने यह कहते हुए ठुकरा दिया कि यह उनकी एकता को तोड़ने की एक चाल है।

loading...