Breaking News
  • सोनभद्र जमीन मामले में अब तक 26 आरोपी गिरफ्तार, प्रियंका करेंगी मुलाकात
  • वेस्टइंडीज दौरे के लिए रविवार को 11:30 बजे होगा टीम इंडिया का चयन
  • बिहार : बाढ़ से अब तक 83 लोगों की मौत
  • कर्नाटक में आज दोपहर डेढ़ बजे तक सरकार को साबित करना होगा बहुमत

साध्वी के कारण यादगार रहेगा संसद का पहला दिन

नई दिल्ली: 17 वीं लोकसभा के पहले दिन संसद में कुछ ऐसा हुआ जिसे शायद कभी भूलाया नहीं जा सकेगा। सियासत में आने से साथ ही विवादों में घिरी बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के लिए संसद का पहला दिन भी विवादों से भरा रहा। संसद में शपथ लेने के दौरान साध्वी ने अपने नाम के साथ अपने आध्यात्मिक गुरू का भी नाम लिया, जिसपर विपक्ष ने काफी हंगामा काटा।

हालांकि लोकसभा स्पीकर के समझाने के बाद विपक्ष के रूख में थोड़ी नरमी आई, जिसके बाद पहील बार सांसद चुनी गई साध्वी ने अपनी शपथ पूरी की। आपको बता दें कि मालेगांव बम धमाके में आरोपी साध्वी प्रज्ञा बीजेपी के टिकट पर भोपाल संसदीय क्षेत्र से वरिष्ठ कांग्रेसी दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव जीतकर संसद पहुंची हैं।

बता दें कि साध्वी के लिए यह कोई पहला मौका नहीं है जब वह विवादों में घिरी हैं, बल्कि इससे पहले चुनावी चर्चाओं के दौरान सध्वी नें मुंबई हमले में शहीद हुए ATS अधिकारी हेमंत करकरे को लेकर विवादित बयान दिया था।

वहीं इसके तुरंत बाद साध्वी अयोध्या में बाबरी ढांचे को गिराये जाने पर गर्व जताकर भी आलोचनाओं का शिकार हो चुकी है। जबकि महात्मागांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का महिमामंडन के लिए भी उन्हें पीएम मोदी के गुस्से का शिकार होना पड़ा है।

loading...