Breaking News
  • अयोध्या मामले में 2 अगस्त से खुली कोर्ट में सुनवाई, 31 जुलाई तक मध्यस्थता की प्रक्रिया
  • महाराष्ट्र में गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस पटरी से उतरी
  • अमरनाथ यात्रा पर आतंकी कर सकते हैं आतंकी हमला : सूत्र
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार का शक्ति परीक्षण, 2 बसों में विधानसभा पहुंचे BJP विधायक

सरकारी योजनाओं पर भिड़ी दिल्ली और मोदी सरकार

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले केंद्र और दिल्ली सरकार के बीच जारी तनातनी का दौर नई दिशा में बढ़ता दिख रहा है। आगामी चुनाव से पहले दिल्ली सरकार ने महिलाओं को बड़ा तोहफा देते हुए मेट्रो और सरकारी बसों में मुफ्त सवारी की घोषणा की है। जिसपर दिल्ली और केंद्र सरकार के बीच नई जंग छीड़ी है। गुरुवार के केंद्रीय मंत्री ने केजरीवाल सरकार पर महिलाओं को धोखा देने के आरोप लगाते हुए दिल्ली वासियों को केंद्र की योजनाओं का लाभ नहीं देने का आरोप लगाया, जिसपर दिल्ली सरकार की ओर से भी पलटवार जारी है।

दिल्ली सरकरा पर महिलाओं को धोखा देने का आरोप लगाते हुए केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि दिल्ली सरकार ने बिना किसी निर्धारित योजना के मुफ्त सफर की घोषणा की है। साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार केंद्र की आयुष्मान भारत योजना समेत केंद्र की कई योजनाओं का लाभ दिल्ली वासियों को नहीं दिला रही है, और अनाप-शनाप घोषणाएं कर रही है।

केंद्रीय मंत्री के आरोपों पर पलटवार करते हुए दिल्ली के डिप्टी सीएम ने केंद्र सरकार पर अपनी भढ़ास निकाली और महिलाओं को मुफ्त सफर का जवाब देते हुए साफ किया कि सरकार ने इसकी पूरी प्लानिंग कर रखी है। समय आने पर इसकी भी जानकारी दी जाएगी। हालांकि मामला यही खत्म नहीं होता, क्योंकि दिल्ली के सीएम ने स्वास्थय मंत्री हर्षवर्धन को खत लिखा है।

जिसमें केजरीवाल ने केंद्र की आयुष्मान योजना को फिसड्डी बताते हुए अपनी मोहल्ला क्लिनिक योजना को दिल्ली वासियों के लिए संजीवनी करार दिया है। केंद्रीय मंत्री को लिखे गए खत में केजरीवाल ने कहा कि, जब दिल्ली की स्वास्थय सेवाएं आयुष्मान भारत योजना से 10 गुना बेहतर है, तो केंद्र सरकार क्यों दिल्ली के लोगों को अच्छे और नि शुल्क इलाज से वंचित रखना चाहती है।

साथ ही सीएम ने यह भी कहा कि दिल्ली की स्वास्थय योजनाओं की अंतराष्ट्रीय स्तर पर सराहना हुई है, फिर भी अगर आयुष्मान योजना में कोई ऐसी बात है जो दिल्ली की स्वास्थय योजनाओं में नहीं है तो केंद्र सरकार हमें बताये, हम उन योजनाओं को दिल्ली की योजनाओं में शामिल करेंगे। 

loading...