Breaking News
  • यूपी: टूंडला स्टेशन के पास कालिंदी एक्सप्रेस पटरी से उतरी, बीती रात 1:40 बजे हुआ यह हादसा
  • आज से बैंक खाते से निकाले जा सकेंगे 50 हजार रुपये, 13 मार्च से कैश निकासी की कोई सीमा नहीं
  • आज उत्तर प्रदेश में फूलपुर और जालौन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी रैली
  • सऊदी अरब: पहली बार महिला को बनाया गया शेयर बाजार का प्रमुख और दैनिक अखबार का मुख्य संपादक
  • सराह अल-सुहैमी सऊदी शेयर बाजार की प्रधान और पत्रकार सोमाया जबराती बनी मुख्य संपादक

विवादित: कांग्रेस नेता आजाद ने उरी आतंकी हमले की तुलना नोटबंदी से की!


नई दिल्ली: मोदी सरकार द्वार लागू किए गए नोटबंदी के फैसले के खिलाफ कांग्रेस पार्टी के साथ सरकार के सभी विरोधी दल एकजुट हो कर खड़े दिख रहे है। इस क्रम में विरोधी सड़क से लेकर संसद तक सरकार को घेरने की तैयारी में लगी है। तो सरकार भी जनता के समर्थन का हवाला देते हुए अपना बचाव कर रही है।

नोटबंदी पर पीएम मोदी से बयान देने की मांग पर अड़े विरोधियों ने शीत सत्र से दूसरे दिन भी राज्यसभा में जमकर हंगामा किया। लेकिन इस क्रम में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने एक विवादित बयान दे दिया जिससे एक अगल बखेड़ा खड़ा होगया।

सदन में आजाद ने नोटबंदी की तुलना उरी आतंकी हमले से करते हुए कहा कि देश में जीतने लोग नोटबंदी से अब तक मर चुके है, उतने तो पाकिस्तानी आतंकवादियों ने भी उरी हमले में नहीं मार था। आजाद के इस बयान पर सत्ताधारी दल ने विरोध जताते हुए माफी मांगने की अपील करते हुए हंगामा शुरू कर दिया।

आजाद ने सवालिया लहजे में कहा कि जिन लोगों की मौत नोटबंदी के कारण हुई है, इसके लिए कौन जिम्मेदार है, और किसे सजा दी जाएगी?