Breaking News
  • अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो आज करेंगे पीएम मोदी और एस. जयशंकर से मुलाकात
  • WC 2019 : इंग्लैंड को 64 रनों से हराकर सेमीफाइनल में पहुंचा ऑस्ट्रलिया
  • WC 2019 : बर्मिंघम के मैदान पर आज भिड़ेंगे न्यूजीलैंड और पाक
  • राज्यसभा में 26 जून को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब देंगे पीएम मोदी
  • केंद्रीय गृहमंत्री शाह 26 जून को जाएंगे श्रीनगर, कल करेंगे बाबा बर्फानी के दर्शन

तो मोदी की सुनामी में ‘कांग्रेस मुक्त’ हो गए ये 23 राज्य

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के तहत मतों की गिनती अब भी जारी है। लेकिन हार और जीत की स्थिति साफ हो गई है। अब तक मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी अकेले 300 सीटे जीतने के करीब है। जबकि बीजेपी की नेतृत्व वाली एनडीए के खाते में 350 के करीब सीटें आती दिख रही है। वहीं लोकसभा चुनाव 2019 बीजेपी और कांग्रेस दोनों के लिए काफी यादगार बन गई है।

एक ओर 2014 में 282 सीटें जीतने वाली बीजेपी इस बार अकेले ही 300 सीटों का आकड़ा पार करती दिख रही है। वहीं 2014 में 40 सीटों पर सिमटने वाली कांग्रेस पार्टी 2019 में भी तिहाई के आकड़े तक नहीं पहुंच सकी। कांग्रेस पार्टी 50 के करीब सीट पर ही सिमटती दिख रही है। इतना ही नहीं कांग्रेस पार्टी ने 2019 चुनाव में अपनी एक परंपरागत सीट अमेठी भी गंवा दी।

साल 2014 में मोदी की आंधी के बाद भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेठी से जीत दर्ज की थी, लेकिन 2019 में चली मोदी की सुनामी ने राहुल गांधी की अमेठी सीट भी ले उड़ी। और बीजेपी का वो दवा भा सच साबित कर दिया जिसमें राहुल गांधी पर आरोप लगाए जा रहे थे कि राहुल ने अमेठी में हार के डर से केरल के वायनाड सीट से चुनाव लड़ने का फैसला किया है।

इसके अलावा भी 2019 के चुनाव में कुछ ऐसी घटनाएं घटी है जो कांग्रेस पार्टी के को बहुत बुरे दौर से दो-चार करा रही है। कांग्रेस के लिए यह परिणाम इसलिए भी चिंताजनक है क्योंकि वह अपनी सत्ता वाले कर्नाटक, राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में चारो खाने चीत हो चुकी है। देश के सबसे बड़े प्रदेश में (यूपी) में कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को पूर्वी यूपी और ज्योतिरादित्य को वेस्ट यूपी की कमान दी थी, लेकिन पार्टी ये पैतरा भी काम नहीं सका। वहीं कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में भी कांग्रेस को मुंह की खानी पड़ी है। जिसके कारण स्थिति कांग्रेस मुक्त जैसी हो चली है।

पूरब से पश्चिम और उत्तर से दक्षिण तक से कांग्रेस के लिए हार ही हार वाली समाचार आ रही है। यहां कुछ ऐसे राज्यों के बारे में बता रहे हैं जहां कांग्रेस की सिसासी जमीन लूट चुक है।

देश के सबसे बड़े प्रदेश उत्तर प्रदेश में लोकसभा की कुल 80 सीटें है। जिनमें से 60 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है, जबकि एक सीट पर कांग्रेस पार्टी आगे है, बची हुए अन्य सीटे महागठबंधन के खाते में जा रही है।

महाराष्ट्र की 48 में से 23 सीटों पर बीजेपी आगे, जबकि 18 सीटों पर सहोयी शिवसेना आगे तल रही है। वहीं कांग्रेस की गठबंधन सहयोगी एनसीपी के खाते में महज 3 सीटे आती दिख रही है।

पश्चिम बंगाल की 42 सीटों में से 22 पर टीएमसी आगे चल रही है जबकि 19 सीटों पर बीजेपी आगे हैं। और कांग्रेस के खाते में महज एक सीट दिख रही है।

बिहार की 40 में से 16-16 सीटों पर bjp और jdu आगे चल रही है, जबकि 6 सीटों nda की तीसरी सहयोगी लोजपा के खाते में जा रही है। जबकि बची हुए दो सीटों में से एक पर आरजेडी और एक पर कांग्रेस आगे चल रही है, लेकिन स्थिति खराब है।

मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है। जबकि एक सीट छिंदवाड़ा से सीएम कमलनाथ के बेचे नकुलनाथ जीत रहे हैं।

गुजरात की 26 की 26 सीटे भाजपा के खाते में आई।

आंध्र प्रदेश की 25 लोकसभा सीटों में से 24 वाईएसआर कांग्रेस के खाते में जा रही है जबकि एक सीट पर टीडीपी आगे है।

राजस्थान में 24 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही जबकि एक सीट पर बीजेपी की सहोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी आगे है।

ओडिशा की 14 सीटों पर राज्य की सत्ताधारी बीजेडी आगे चल रही है, जबकि बीजेपी 7 सीटों पर आगे दिख रही है।

हरियाणा की सभी 10 सीटें बीजेपी जीत रही है।

6 सीटों वाले जम्मू-कश्मीर में 3 सीटें बीजेपी और 3 सीटे नैशनल कॉन्फ्रेंस के खाते में जा रही है।

केंद्र शासित प्रदेश अंडमान निकोबार की एकमात्र सीट पर बीजेपी के खाते में जा रही है।

अरुणाचल प्रदेश की दोनें सीटें बीजेपी के खाते में जा रही है।

केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ की एकमात्र सीट से बीजेपी की किरण खेर चुनाव जीत रही हैं।

दादर ऐंड नागर हवेली की एक सीट भी बीजेपी के काते में जा रही है।

दमन दीव की एकमात्र सीट भी बीजेपी के खाते में गई है।

हिमाचल प्रदेश की सभी 4 सीटें बीजेपी के खाते में आ रही है।

उत्तराखंड की सभी पांच सीटें बीजेपी के खाते में जा रही है।

मणिपुर की दो सीटों में से एक पर बीजेपी और एक पर नागा पीपल्स फ्रंट जीत रही है।

मिजोरम की एकमात्र सीट बीजेपी के खाते में आ रही है।

दिल्ली की सभी सात सीटों पर एक बार फिर से बीजेपी आगे चल रही है।

सिक्किम की एकमात्र सीट से सिक्किम क्रांतिकारी मोर्च आगे चल है।

त्रिपुरा की दोनों लोकसभा सीट बीजेपी के खाते में आ रही है।

loading...