Breaking News
  • UPElection: 5वें चरण के लिए चुनाव-प्रचार का आज आखिरी दिन
  • जम्मू कश्मीर: शादियों में फिजूलखर्ची पर सरकार ने पेश किया लाई बिल- मेहमानों की संख्या के साथ कई नियम
  • MCD चुनाव के लिए आप पार्टी ने किया 109 उम्मीदवारों का ऐलान
  • इंफाल: पीएम मोदी की चुनावी सभा- मणिपुर में कांग्रेस रहने को अधिकारी नहीं
  • पूर्वी भारत के विकास के बिना भारत का विकास अधूरा- मोदी
  • कांग्रेस जो काम 15 साल में नहीं कर पाई, हम 15 महीनों में करेंग- मोदी
  • पुणे टेस्ट: 333 रन से हारी टीम इंडिया- दूसरी पारी में भी 107 पर ऑलआउट

मोदी के समझाने के बाद भी कांग्रेस ‘नोटबंदी’ के फैसले की जांच पर तुली!


नई दिल्ली:  मोदी सरकार द्वारा 500 और 1000 के पुराने नोटों पर बैन लगाने के बाद से देश में पौसों की डिमांड जैसे बढ़ गई हो। सरकार के इस फैसले के साथ देश की जनता तो दिख रही है, लेकिन जतना को 3-4 दिन बीत जाने के बाद भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

इन सभी बातों को देखते हुए पीएम मोदी ने रविवार को देशवासियों को संबोधित किया और फैसले पर समर्थन के लिए भावूक होकर जनता का अभिवादन किया। इस दौरान मोदी ने नोटबंदी की पूरी प्रक्रिया को समझाने की भी भरपूर कोशिश की।

लेकिन इधर कांग्रेस पार्टी सरकार के इस फैसले को सवालों के घेरे में रखते हुए इसकी जांच कराने की मांग कर रही है। कांग्रेस पार्टी की ओर से आनंद शर्मा ने कहा कि हम लोग यह पहले भी कह चुके है और एक बार फिर से कहते है कि ‘नोटबंदी’ के फैसले की जांच हो।

उन्होंने भाजपा पर आरोप लगते हुए कहा कि भाजपा के लोगों को इस बात की खबर पहले से थी। सरकार के इस फैसले के पहले देश में सोना-चांदी, हीरे, विदेशी मुद्रा में भारी पैमाने पर हेरफेर हुआ है। शर्मा ने इस फैसले की जांच अदालती की निगरानी में कराने की मांग की है।

उन्होंने बैंकों में पैसे बदलने के लिए उमड़ रहे भीड़ का हवाला देते हुए सरकार पर लोगों की खिल्ली उड़ाने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने देश को अपमानित किया है।