Breaking News
  • सोनभद्र जाने पर अड़ी प्रियंका गांधी, धरने का दूसरा दिन
  • असम और बिहार में बाढ़ से 150 लोगों की गई जान, 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित
  • इलाहाबाद हाइकोर्ट ने पीएम मोदी को जारी किया नोटिस, 21 अगस्त को सुनवाई
  • कर्नाटक पर फैसले के लिए अब सोमवार का इंतजार

मोदी के प्रचंड जीत से बदला TIME मैग्जीन के सुर, पहले बताया था देश...

नई दिल्ली : देश में लोकसभा चुनाव का दौर चला रहा था, तमाम नेता अपने गुण और दूसरे के दोष को बता रहे थे। इसी चुनाव को TIME मैग्जीन ने भी भुनाने की कोशिश की थी। औऱ उसने अपने मैग्जीन के कवर स्टोरी पर पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर छापी थी, जिसका टाइटल ‘Divider in Chief’ दिया गया था, जिसका अर्थ होता है देश को बांटनेवाला सरदार। यानी उसने अपने मैग्जीन में इस शीर्षक नाम से एक आलेख लिखा था। जिसमें उसने पीएम मोदी को देश को बांटनेवाला नेता बताया था। जिसे आतिश तासीर ने लिखा था। इस आलेख में तासीर ने मोबाइल लिंचिंग का जिक्र कर पीएम मोदी को घेरा था। हालांकि इस कवर स्टोरी के बाद टाइम मैग्जीन और आतिश तासीर की काफी आलोचना हुई थी। जिस पर टाइम भी मौक बना रहा।

हालांकि पीएम मोदी के चुनाव जीतने एवं एनडीए को बहुमत से अधिक मत प्राप्त कर जीतने पर एकबार फिर टाइम ने एक आलेख छापा है जिसके टाइटल को उसने अपना कवर स्टोरी बनाया है, जिसका शीर्षक ‘Modi has united India like no Prime Minister in decades’ दिया गया है। जिसका अर्थ होता है दशकों में जो कोई अन्य प्रधानमंत्री नहीं कर सका, उस तरह नरेंद्र मोदी ने भारत को जोड़ दिया। यानी टाइम ने अब पीएम मोदी को देश को जोड़नेवाला नेता बताया है। आपको बता दें कि इस आलेख को मनोज लाडवा ने लिखा है, जिन्होंने 2014 में Narendra Modi For PM का कैंपेन चलाया था।

 

जिससे एक बार फिर टाइम सुर्खियों में आ गया। लेकिन चुनाव परिणाम के महज 6 दिनों बाद ही अपने पुराने आलेख को गलत बताना वह यह बताता है कि वह भी भारत में हो रहे चुनाव में अपना दखल देना चाह रहा था लेकिन सफल न होने पर उसने अपने इस कवर स्टोरी को फिर एक नये कवर स्टोरी से छिपाने की कोशिश की। आपको बता दें कि टाइम एक अमेरिकन मैग्जीन है जो इंग्लिश पत्रिका है।

loading...