Breaking News
  • नये ट्रैफिक नियमों में बढ़े हुए जुर्माने के खिलाफ हड़ताल पर ट्रांसपोर्टर्स
  • यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने किया है हड़ताल का आहवाहन
  • महाराष्ट्र दौरे पर पीएम मोदी, नासिक से करेंगे चुनाव प्रचार अभियान का आगाज
  • साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में 7 विकेट से जीता भारत

CBI का खुलासा: सिर्फ एग्जाम टालने के लिए की गयी थी प्रद्युम्न की हत्या

गुरुग्राम: गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न मर्डर केस मामले सीबीआई ने खुलासे का दावा किया है। सीबीआई ने इस मामले में गहन पूछताछ के आधार पर खुलासा करते हुए कहा कि 11वीं के छात्र ने एग्जाम और पीटीएम को टालने के लिए छात्र की बेरहमी से हत्या कर दी थी।

बतादें कि प्रद्युम्न मर्डर केस मामले की जांच कर रही सीबीआई ने पुरे मामले को खोलने का दावा किया है। सीबीआई जांच में पता चला है कि एक 11वीं के छात्र ने इस वारदात को अंजाम दिया है। सीबीआई  जांच में बताया जा रहा है कि वारदात को अंजाम देने वाला छात्र स्कूल में होने वाले एग्जाम और पीटीएम को रोकने का प्लान बना रहा है। इसी के तहत उसने इस जघन्य हत्या को अंजाम दिया था। सीबीआई की जांच में यह भी पता चला है कि कथित छात्र अपने साथ चाकू भी ले जाता था।

मैरी कॉम ने जीता सोना- उत्तर कोरिया को चटाई धूल!

मंगलवार को ही खबर आई थी कि पूरे मामले में सीबीआई की जाँच एक मानसिक तौर पर बीमार 11वीं के छात्र पर टिकी है। जिसको सीबीआई ने हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। इसी छात्र ने प्रद्युम्न के शव के बारे में स्कूल प्रशासन को जानकारी दी थी, सीबीआई की जांच में यह भी पता चला है कि कथित छात्र की मानसिक बीमारी का इलाज भी चल रहा है।

आठ सितम्बर को रेयान स्कूल के वाशरूम के पास सात वर्षीय छात्र का खून से लथपथ शव मिला था। पहले इस मामले में छात्र की हत्या के लिए बस कंडक्टर को दोषी माना गया था। साथ ही हत्या के बाद बस कंडक्टर अशोक कुमार ने हत्या की बात कबूल भी की थी, लेकिन बाद में वह अपने बयान से पलट गया था। उसने कहा था कि दबाव में आकर उसने हत्या की बात स्वीकार की थी। वहीँ अब सीबीआई ने पूरे मामले का खुलासा करने का दावा किया है।

किस आधार पर सीबीआई कर रही है खुलासे का दावा

सीबीआई की महीने भर की जांच में स्कूल के छत्रों से लेकर माली-ड्राईवर, टीचर सभी से पूछताछ हुई है। सीबीआई ने कई बार क्राइम सीन बनाकर इस मामले की पड़ताल कर चुका है, लेकिन हर बार कहीं न कहीं कोई कड़ी छूट जाती थी। सीबीआई को स्कूल की तरफ से बी ज्यादा कुछ सहयोग नहीं मिला। स्कूल के ज्यादातर सीसीटीवी कैमरे खराब थे।

गुजरात: अनोखा वोटर- 2012 में लड़का तो 2017 में लड़की बन कर देगी वोट!

वहीँ वाशरूम में हत्या के समय किसकी मौजूदगी थी इस पर बड़ा संशय बना हुआ था। आरोपित कंडक्टर ने अपने बयान से पलट गया था इसके लिए सीबीआई ने नये सिरे से जांच शुरू की थी। जिसके बाद सीबीआई का सबसे बड़ा सस्पेक्ट एक छात्र निकला, जोकि स्कूल में चाकू लेकर जाता था। वहीँ सीबीआई ने छात्र को हत्या के मामले में गिरफ्तार कर लिया है। हालाँकि पूरे मामले पर आरोपित छात्र के परिवार का कहना है उन्हें इस मामले में फंसाया जा रहा है।    

यह भी देखें-

loading...