Breaking News
  • बाढ़ और चक्रवात के खतरे में आने वाले ज़िलों में स्वंयसेवकों के प्रशिक्षण के लिए भी 'आपदा मित्र' नाम की पहल की गई है: पीएम
  • पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की तकनीक को उपयोगी बनाने का आग्रह किया
  • विदेश सचिव विजय गोखले ने की चीन के वित्त मंत्री से मुलाकात, द्विपक्षीय एजेंडे पर हुई चर्चा
  • मन की बात कार्यक्रम के 41वें संस्करण में बोले पीएम मोदी
  • 54 साल की उम्र में बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी का निधन
  • भारत की Aruna Reddy ने मेलबर्न Gymnastics World Cup में कांस्य पदक जिता

मुंबई और अहमदाबाद के बाद इन शहरों में दौड़ेगी बुलेट ट्रैन

नई दिल्ली: बीते दिन बुधवार को भारत में दो दिनों की यात्र पर आए जापान के प्रधानमंत्री ने गुरुवार को भारत में पहली अहमदाबाद से मुंबई तक चलने वाली बुलेट ट्रेन का शिलायन्स किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो ने एक साथ मिल कर इस प्रोजेक्ट की नींव रखी। इस बुलेट ट्रेन के प्रोजेक्ट में लगभग 108 लाख करोड़ रुपये का खर्च आएगा।

बताया जाता है कि एक कि‍लोमीटर पर लगभग 212 करोड़ रुपये का खर्च होगा। इस बुलेट ट्रेन के आने से रफ़्तार और सुरक्षा को बढ़ावा मिलने की बात की जा रही है, लेकिन यहां एक बड़ा सवाल है कि जिस भारत में समान्य गति की रेलगाड़ियां आय दिन पटरी छोड़ देती है, क्या तेज रफ्तार वाली बुलेट ट्रेन चलाना इतना आसान होगा, बहरहाल सवाल जो भी हो, शुरुआत बेहतर हुई है तो अंत भी शानदार होनी चाहिए।

मुंबई-अहमदाबाद के बाद किस शहर में चलेगी बुलेट ट्रेन(मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार)

दिल्‍ली-बनारस: खबरों के अनुसार मुंबई-अहमदाबाद में बुलेट ट्रेन के चलने के बाद पहले फेज में दिल्‍ली से बनारस की ओर चलेगी। जानकारी के अनुसार दिल्‍ली-कोलकाता प्रोजेक्‍ट में दिल्‍ली से बनारस तक की फिजिबिलिटी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी गई है। बताया जा रहा है कि यह रूट दिल्‍ली–कोलकाता का हिस्‍सा है। यह ट्रेन अलीगढ़, आगरा, कानपुर, लखनऊ, सुल्‍तानपुर,बनारस से होते हुए बक्‍सर, पटना, धनबाद, आसनसोल, बुर्दवान के बाद कोलकाता पहुंचेगी। इस बुलेट ट्रेन के चलने से दिल्‍ली से लखनऊ का सफर काफी कम समय का होगा, यह ट्रैन दिल्‍ली से लखनऊ की दूरी 1 घंटे 38 मिनट मे तय करेगी।

पीएम मोदी ने मस्जिद जाकर कर दी यह बड़ी गलती!

दिल्‍ली-मुंबई: तो वहीं खबर है कि दिल्ली से मुंबई जाने वाली ट्रेन के मुख्य स्टेशन गुड़गांव, जयपुर, उदयपुर, बड़ोदा और सूरत में बनेग। जानकारी के अनुसार इस प्रोजेक्‍ट के लिए भी मंजूरी मिल चुकी है। इस प्रोजेक्ट में चीन की कंपनी द थर्ड रेलवे एंड डिजाइन इंस्टिट्यूट ग्रुप कॉरपोरेशन और लाहमेयर इंटरनेशनल इंडिया प्रा. लिमिटेड काम करेगी।

मुंबई-चैन्‍नई : यह ट्रेन मुंबई से चैन्‍नई तक चलेगी, जोकि गोवा, पुणे बंगलुरु और तिरुपति से होकर गुजरेगी। इस प्रोजेक्ट पर राइट्स के साथ अर्नस्‍ट एंड यंग और फ्रांस की कंपनी भी काम करेगी।

दिल्‍ली-अमृतसर: दिल्‍ली-अमृतसर का यह रूट 458 किलोमीटर का होगा। इस रूट पर सफर 2 घंटे 3 मिनट में पूरा होगा। इस बुलेट ट्रेन के मुख्य स्टेशन पानीपत, अंबाला, चंडीगढ़ और लुधियाना होंगे।

बूढ़ा दुकानदार 9वीं की छात्रा से करता था रेप- पकड़ी गई पूरी फिल्म!

 मुंबई-नागपुर: इस प्रोजेक्ट की मंजूरी मिलने में अभी समय हैं, जानकारी के अनुसार अक्‍टूबर तक इस प्रोजेक्ट को भी मंजूरी मिल जाएगी। इस प्रोजेक्ट में नासिक, औरंगाबाद और अमरावती में मुख्य  स्‍टेशन बनाने का प्रस्‍ताव दिया गया है।

दिल्‍ली-नागपुर: इस प्रोजेक्‍ट का सर्वे शुरू हो चुका है, इस प्रोजेक्ट के सर्वे का काम चाइना रेलवे सियोन को दिया गया है। जानकारी के अनुसार जल्द ही इसकी फिजिबिलिटी रिपोर्ट सरकार को दे दी जाएगी।

इसे भी देखें!

loading...