Breaking News
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट में आज चार नए जजों को दिलाई शपथ
  • ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम की सफलता पर भड़का पाकिस्तान
  • आर्मी चीफ बिपिन रावत का बयान, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है
  • गृह मंत्री ने कहा कि कहा कि 2021 की जनगणना में मोबाइल एप का प्रयोग होगा

कर्नाटक के बाद अब गोवा में भी बीजेपी की चांदी, ...विधायकों ने किया बगावत

नोएडा : लोकसभा चुनाव 2019 में करारी हार के बाद भी अब कांग्रेस का मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रहा। एक तरफ जहां कर्नाटक में कांग्रेस के लगभग 2 दर्जनों से अधिक विधायकों ने बगावती तेवर अख्तियार कर लिये हैं, वहीं दूसरी तरफ गोवा के 10 विधायकों ने भी कांग्रेस से बगावत कर दिया है। आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि उन्हें यही मलाल हैं की अब तक लोकसभा चुनाव में हार का जिम्मा किसी विधायक ने नहीं लिया है, उसके बाद उन्होंने अपने इस्तीफे की पेशकश की। राहुल के इतना कहते ही कांग्रेस में इस्तीफा का तांता लग गया। लेकिन इस इस्तीफे के साथ ही कांग्रेस में बागी होने की चिंगारी फूट गई।

बता दें कि 2017 विधानसभा चुनाव में गोवा की 40 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी को 17, कांग्रेस को 15, जीपीएफ को 3, एमजीपी को एक, एनसीपी को दो और निर्दलीय को 2 सीट मिले थे। जिसके बाद कांग्रेस अक्सर सरकार बनाने के दावे को लेकर जी तोड़ मेहनतर करती रहीं है और कई बार गोवा सरकार को भी भंग करने की कोशिश की लेकिन अब उसकी यही कोशिश उस पर भारी पर रहीं है। गौरतलब है कि अब चुंकि कांग्रेस के भी 10 विधायक BJP में शामिल हो रहे है, इससे अब कांग्रेस के पास मात्र 5 ही विधायक शेष रह गये। और बीजेपी के विधायकों की संख्या 27 हो गई।

बीजेपी में शामिल को लेकर गोवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष चंद्रकात कावलेकर ने कहा, ‘’दो तिहाई बहुमत होने के बाद हम राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मिलने आए हैं। साल 2017 के चुनाव में दूसरी बड़ी पार्टी बनने के बाद भी कांग्रेस सरकार नहीं बना पाई। गोवा में कांग्रेस के पूर्व सीएम पार्टी के लोगों को जोड़ कर नहीं रख पा रहे हैं, जिससे हमारे विधायक भी काफी नाराज़ हुए हैं।’’

कावलेकर ने आगे कहा, ‘’विपक्ष का नेता होने के नाते मुझे भी इस बात से काफी परेशानी थी। हम सभी अपनी मर्ज़ी से बीजेपी में शामिल हुए हैं, क्योंकि हमें भी पता था कि विपक्ष में रहकर हम अपने क्षेत्र का विकास नहीं कर सकते।’’

वहीं इस मामले पर राज्य के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा है, ''विपक्षी नेता के साथ 10 कांग्रेस विधायकों ने बीजेपी में विलय किया है। बीजेपी की ताकत अब बढ़कर 27 हो गई है। वे राज्य और अपने निर्वाचन क्षेत्र के विकास के लिए हमारे साथ आए हैं। उन्होंने कोई शर्त नहीं रखी है, वे बिना शर्त बीजेपी में शामिल हुए हैं।"

आपको बता दें कि इन 10 विधायकों में विपक्ष के नेता चन्द्रकांत कावलेकर भी हैं, जो कल विधानसभा अध्यक्ष राजेश पाटनेकर से मुलाकात करेंगे। आज वे सभी बागी विधायक बीजेपी अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगे।

loading...