Breaking News
  • छत्तीसगढ़ में पहले चरण के मतदान में 3:45 बजे तक 49.12 फीसदी वोटिंग
  • पीएम मोदी ने वाराणसी-हल्दिया राष्ट्रीय जलमार्ग देश को समर्पित किया
  • अफगानिस्तानः राजधानी काबुल में बड़ा धमाका, कई लोगों के मारे जाने की आशंका

शाह ने कहा: नीतीश हमारे परमानेंट साथी, विपक्ष टपकाता रहे लार

पटना: भारतीय जनता पार्टी प्रमुख अमित शाह बिहार दौरे पर हैं। इस दौरान जेडीयू के साथ गठबंधन को लेकर उन्हें बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि विपक्ष को लार टपकाते ही रहना है, क्योंकि नीतीश कुमार हमारे साथ ही रहने वाले हैं।

बतादें कि गुरुवार को बिहार दौरे पर पहुंचे अमित शाह ने राज्य के सीएम और जनता दल यूनाइटेड के प्रमुख नितीश कुमार से मुलाकात कर गठबंधन को लेकर बड़ी बात कही। गुरुवार को नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद अमित शाह ने दावा किया कि हम बिहार में सभी 40 सीटों पर जीत हासिल करेंगे। हमें साथियों को संभालना आता है। उन्होंने कहा कि बीजेपी किसी कुनबे या परिवार की नहीं बल्कि विचारधारा के आधार पर चलने वाली पार्टी है। आगे सहा ने कहा कि नीतीश कुमार परमानेंट हमारे साथ आ चुके हैं, अब विपक्ष को लार टपकाते ही रहना है। नीतीश कुमार भ्रष्टाचार से समझौता नहीं करेंगे।

सरकारी अध्यापकों के लिए जारी हुआ नया ड्रेस कोड, ऐसे दिखे तो...

वहीँ अमित शाह ने आगे कहा कि 10 सदस्यों से शुरू होने वाली हमारी पार्टी आज 11 करोड़ सदस्यों तक पहुंच गई है। सबसे ज्यादा 330 सांसद, 19 राज्य सरकारें हैं, पूर्ण बहुमत की सरकार मोदी जी के नेतृत्व में चल रही है। 70 प्रतिशत भू-भाग पर बीजेपी का शासन है। इससे पूर्व गुरुवार को बिहार पहुँचने पर नितीश कुमार के आवास पर अमित शह ने मुलाकात कर साथ में नाश्ता किया था। वहीँ करीबन दोनों के बीच 45 मिनट तक वार्ता हुई।

इस बड़ी सीट से मायावती लड़ेंगी लोकसभा चुनाव, बीजेपी की हवा टाईट!

इस दौरान बिहारसे आने वाले कई बड़े बीजेपी नेता मौजूद रहे। हालाँकि अभी भी सीटों को लेकर सस्पेंस बना हुआ है कि बीजेपी और जेडीयू में सीट शेयरिंग को लेकर क्या समझौता हुआ है। क्योंकि बिहार में एकबार फिर से जेडीयू का बीजेपी के साथ आ जाने से सीट शेयरिंग का गणित बिगड़ गया है। अबकी बार जेडीयू, लोजपा, रालोसपा तीनों के साथ मिलकर बीजेपी को चुनाव लड़ना महंगा पडेगा। क्योंकि तीनों की सीट मांग को देखा जाए तो बीजेपी के पास दस ही बचती है जबकि पिछले चुनाव में बीजेपी को 22 सीटें हासिल हुई थी। वहीँ लोजपा और रालोसपा को क्रमशः छ और तीन सीटें मिली थी।

यह भी देखें-

loading...