Breaking News
  • छत्तीसगढ विधानसभा चुनाव के दूसरे और आखिरी चरण के लिए मतदान
  • CBI विवाद: SC में सीवीसी की रिपोर्ट और निदेशक वर्मा के जवाब की सुनवाई 29 नवंबर तक टाली
  • महाराष्ट्र: पुलगांव में सेना के हथियार डिपो में धमाका, 4 की मौत
  • जम्मू-कश्मीर: शोपियां में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 4 आतंकी ढेर, एक जवान शहीद, दो घायल

2019 चुनाव: बिहार में बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेगी बीजेपी-जेडीयू, नाखुश हुए पासवान-कुशवाहा

नई दिल्ली: शुक्रवार को दिल्ली में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाक़ात की। अमित शाह ने मुलाक़ात के बाद बताया कि बिहार में जेडीयू और बीजेपी ने आगामी 2109 के लोकसभा चुनाव बराबर सीटों पर लड़ने का फैसला किया है। सीटों को दो-तीन दिनों में ऐलान किया जाएगा जबकि गठबंधन की बाकी सीटें लोजपा और रालोसपा को साझा करेंगे।

अमित शाह ने कहा कि तीन-चार दिन से बिहार के लोकसभा के लिए सभी साथियों से चर्चा चल रही थी। नीतीश कुमार के साथ विस्तार से चर्चा के बाद इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि जेडीयू और बीजेपी एक साथ मिलकर बराबर सीटों पर लड़ेगी। बाकी जितने भी सहयोगी दल है उन्हें भी सम्मान जनक सीटें मिलेंगी। दो-तीन दिनों में नंबर की घोषणा की जाएगी और इस दौरान उपेंद्र कुशवाहा और रामविलास पासवान भी साथ होंगे।

बता दें, कि जनता दल (यूनाइटेड), लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) ये तीनों एनडीए के सहयोगी हैं। लेकिन इन घटक दलों में सीटों को लेकर रस्साकशी चल रही है। माना जा रहा है कि नीतीश और शाह के बीच मुलाकात के दौरान बिहार में सीट बंटवारे की संभावनाओं पर मंथन होगा। बिहार में सीट बंटवारे को लेकर एनडीए में खींचतान है। राम विलास पासवान की एलजेपी सात सीटों से कम पर मानने को तैयार नहीं है। इन सबके बीच उपेन्द्र कुशवाहा की आरएलएसपी भी झुकने के मूड में नहीं दिख रही। बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीट हैं।

सूत्रों की मानें तो बीजेपी और जेडीयू 16-16 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। बटवारे में 5 सीटें रामविलास पासवान की एलजेपी को दी जाएंगी जबकि बची हुई तीन सीटों पर उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी को मिलने के आसार हैं।

loading...