Breaking News
  • बिहारः मुठभेड़ में खगड़िया के पसराहा थाना अध्यक्ष आशीष कुमार सिंह शहीद
  • J-K: पुलवामा में सुरक्षा बलों ने हिजबुल के एक आतंकी को मार गिराया
  • दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत 82.66 रुपए प्रति लीटर, डीजल 75.19 रुपए प्रति लीटर
  • J-K:स्थानीय निकाय चुनाव के लिए तीसरे चरण की वोटिंग जारी

बम धमाका: वेस्ट बंगाल से जुड़े हैं ब्लास्ट के तार, कहीं आतंकी वारदात तो नहीं!

आरा: बिहार के आरा में हुए भीषण बम ब्लास्ट में दो आरोपी गंभीर रूप से घायल हैं। वहीँ बम ब्लास्ट के बाद एकबार फिर से सवाल खड़ा हो गया है कि क्या आरा में आतंकी गतिविधियाँ शुरू हो चुकी हैं, ऐसे इस लिए कहा जा रहा है कि इस ब्लास्ट के तार वेस्ट बंगाल से जुड़े हैं और वेस्ट बंगाल से अभी तक कई आतंकियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

बतादें कि गुरुवार सुबह पांच बजे जब लोग सर्दी के कारण रजाई में ठिठुरे पड़े थे उसी दौरान आरा के नगर थाना क्षेत्र जेल रोड स्थित हरखेन कुमार धर्मशाला के आपस आतंकी बड़ी घटना अंजाम देने की साजिश रच रहे थे। लेकिन आतंकियों की साजिश उन्हीं के गले पड़ गयी। बताया जा रहा है कि यह धमाका सुबह के पांच बजे हुआ था। आतंकियों के पास रखे बम वहीँ विस्फोट हो गये। विस्फोट इनता भयंकर था कि कमरे के दरवाजे तक टूट गये। वहीँ विस्फोट से पूरी बिल्डिंग दहल गयी।

जिसके बाद ही इस घटना की जानकारी पुलिस को लगी। मौके पर पहुँची पुलिस ने घायल आरोपियों को गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया है। वहीँ चार के करीब संदिग्ध फरार हो गये हैं। वारदात का शुरूआती इशारा किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की कोशिश की ओर कर रहा है। गुरुवार को हुए विस्फोट के बाद एकबार फिर से सुरक्षा और जांच एजेंसियों की नींद उड़ा दी है। इस घटना के तार वेस्ट बंगाल से जुड़े हैं, कहा जा रहा है कि आरोपी सुबह ही कोलकाता से बिहार के आरा पहुंचे हुए थे।

बिहार: आरा में बड़ा आत्मघाती धमाका, कई घायल

विस्फोट का वेस्ट बंगाल से तार सामने आने के इस घटना को आतंकी वारदात से भी जोड़ कर देखा जा रहा है। वेस्ट बंगाल से लगातार जमात उल दावा बंगालदेश और इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकी गिरफ्तार किये जा चुके हैं। ऐसे में आरा में हुए विस्फोट को किसी बड़ी आतंकी घटना की नाकाम कोशिश भी माना जा सकता है। इससे पूर्व बुधवार को ही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 15 लाख के ईनामी आतंकी आरिज फैजल को गिरफ्तार किया था, जिस पर 5 बड़े ब्लास्टों में शामिल रहने का आरोप है। ऐसे में आरा की घटना बिहार में आतंकियों की मौजूदगी को दर्शा रही है।       

हरियाणा: विवादों के बीच अमित शाह की बाइक रैली शुरू- हिरासत में कांग्रेस अध्यक्ष…

बिहार में इससे पूर्व भी कई बार आतंकी घटना को अंजाम देने की कोशिश की गयी है। बीते वर्ष जनवरी माह में ही बोधगया को उड़ाने की कोशिश को नाकाम किया गया था। यहाँ आतंकियों ने महाबोधि मंदिर परिसर में कई जगह बम प्लांट किये थे, जिन्हें समय रहते डिफ्यूज कर दिया गया था। इसी दौर में कालचक्र मैदान के गेट पर भी विस्फोटक हुआ था। वहीँ इससे पुर्व 7 जुलाई 2013 को आतंकियों ने बोधगया में सीरियल बम ब्लास्ट किये थे। साल 2014 के आम चुनाव के समय नरेन्द्र मोदी की रैली में बड़ा धमाका हुआ था। इन सभी घटनाओं में इंडियन मुजाहिद्दीन का हाथ था। वहीँ अब एकबार फिर से आरा को दहलाने की साजिश नाकाम हुई है।  

यह भी देखें-

loading...