Breaking News
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भुवनेश्वर दौरे पर
  • चक्रवाती तूफान DAYE ने ओडिशा के गोपालपुर तट पर दी दस्तक

माल्या से मुलाकात पर जेलटी की सफाई- हां एक बार यहां हुई थी मुलाकात!

नई दिल्ली: कई भारतीय बैंकों का भारी-भरकम कर्ज लेकर भारत से फरार हो चुके शराब कारोबारी विजय माल्या को भारत लाने में भारत सरकार भी नाकाम साबित हो रही है। वहीं लंदन कोर्ट में सुनवाई के लिए पहुंचे विजय माल्या ने एक ऐसा बयान दिया जिसने भारत की राजनीति में नई हलचल पैदा कर दी है।

भारत छोड़कर फरार हो चुके माल्या ने कहा कि उसने देश छोड़ने से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात कर प्रस्ताव पर चर्चा की बात की थी। माल्या द्वारा जेलटी से मुलाकात की खबरों के बाद देश कांग्रेस और सत्ताधारी भाजपा के बीच राजनीतिक जंग छिड़ी है। मामले को लेकर कांग्रेस पार्टी ने केंद्र सरकार से सफाई देने की मांग की है।

‘माल्या के किंगफिशर में राहुल गांधी की कितनी हिस्सेदारी है’

वहीं माल्या से मुलाकात को लेकर विवादों में घिरे वित्त मंत्री अरुण जेटली ने माल्या के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। जेटली ने कहा कि साल 2014 के बाद माल्या को कभी भी उन्होंने मिलने का समय नहीं दिया। अपने फेसबुक पोस्ट में जेटली ने कहा कि माल्या का बयान झूठा है। जेटली के अनुसार, एक दिन मैं संसद भवन में अपने कमरे की ओर जा रहा था।

कर्नाटक में गिरने वाली है जेडीएस-कांग्रेस की सरकार ?

जेटली ने कहा कि, इसी दौरान राज्यसभा सदस्य होने का फायदा उठाते हुए संसद के गलियारे में माल्या तेजी से मेरे पास आया और चलते हुए ही कहा कि वह भुगतान का प्रस्ताव कर रहा है। उसके झूठ से मैं अवगत था। इसीलिए उसकी बात पूरी होने से पहले ही मैंने कह दिया कि अपने प्रस्ताव के साथ वह बैंक से मिले।

सगे भाईयों ने किया शादीशुदा महिला के साथ हैवानियत, कोर्ट ने दी ऐसी सजा

जेटली ने बताया कि, वह अपने हाथ में कुछ दस्तावेज भी लिए हुए था। लेकिन मैंने कुछ भी नहीं लिया। इसके साथ ही जेटली ने दावा किया कि इस एक वाक्य के अलावा मेरी उससे कोई और बातचीत नहीं हुई।

loading...