Breaking News
  • नये ट्रैफिक नियमों में बढ़े हुए जुर्माने के खिलाफ हड़ताल पर ट्रांसपोर्टर्स
  • यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने किया है हड़ताल का आहवाहन
  • महाराष्ट्र दौरे पर पीएम मोदी, नासिक से करेंगे चुनाव प्रचार अभियान का आगाज
  • साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में 7 विकेट से जीता भारत

पाकिस्तान से एक किलो खजूर लेकर भारत की सीमा में घुसे खतरनाक आतंकी?

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में आतंकवाद फ़ैलाने वाले पाकिस्तान की पोल एकबार फिर से खुल गयी है। यहाँ पिछले दिनों गिरफ्तार किये गये आतंकी से पूछताछ में बड़ा खुलासा किया है। जिसमें उसने बताया कि उसे किस तरह पाकिस्तान से आतंकी ट्रेनिंग देकर भारत में घुसने में मदद की गयी।

बतादें कि पिछले दिनों जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा लश्कर तैयबा के कई आतंकियों ने घुसपैठ की थी, जिसपर सेना सेन कार्रवाई करते हुए पांच आतंकियों को मार गिराया था। वहीँ एक को ज़िंदा पकड़ा था। जिससे राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) लगतार पूछताछ कर रही है। ऐसे में गिरफ्तार आतंकी ने जो खुलासा किया है उसे जानकार कोई भी हैरान रह सकता है। मीडिया में जारी जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि पिछले समय कुपवाड़ा से छह आतंकियों ने घुसपैठ की कोशिश की थी। जिसमें सेना ने पांच को मार गिराया था। वहीँ एक ने हथियार डाल दिए थे, जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया  था। वहीँ गिरफ्तार किये गये आतंकी से जब पूछताछ हुई तो उसने पाकिस्तान की पोल खोलकर रख दी है। आतंकी ने बताया कि 21 दिन की ट्रेनिंग के बाद हमारे ट्रेनिंग हेड हुजेफा ने हम छह लोगों को भारत में आतंक फैलाने के लिए भेजने का इन्तेजाम किया था।

मुश्किल में फंसे मेजर गोगोई, सेना प्रमुख ने दिया कोर्ट ऑफ इनक्वायरी का आदेश

राजनीति के बकासुर: योगी की करनी चाहिए चप्पलों से पिटाई?

एनआईए की पूछताछ में गिरफ्तार किये गये आतंकी जैबुल्लाह ने बताया कि, वह अपने पांच अन्य साथियों के साथ मुजफ्फराबाद से निकलकर पीओके के दुधनियाल पहुंचे। जिसके बाद सरवल और वहां से जुगतियाल के जंगलों से होते हुए कुपवाड़ा के हलमतपोरा भारतीय समा में दाखिल हो गये। आतंकी ने पूछताछ में बताया कि, उसे महज 21 दिन की ट्रेनिंग के बाद सेलेक्ट कर भारत में आतंकवाद फैलाने के लिए भेज दिया गया था। इसके साथ ही उसे और उसके साथियों को एके-47 राइफल, एक किलो खजूर और बादाम, पांच बोतल शहद, 20 रोटियां और एक लाख रुपये (भारतीय मुद्रा) दिया गया गए। यह सारा इन्तेजाम जकीउर रहमान लखवी के बेटे कासिम भाई ने किया था। जिसके बाद वह भारतीय समा में दाखिल हो गये। हालाँकि सेना ने जैबुल्लाह के पांच साथियों को मार गिराया था। वहीँ मुठभेड़ के दौरान जैबुल्लाह ने हथियार डाल कर आत्मसमर्थन कर दिया था।

यह भी देखें-

loading...