Breaking News
  • अयोध्या मामले में 2 अगस्त से खुली कोर्ट में सुनवाई, 31 जुलाई तक मध्यस्थता की प्रक्रिया
  • महाराष्ट्र में गोरखपुर अंत्योदय एक्सप्रेस पटरी से उतरी
  • अमरनाथ यात्रा पर आतंकी कर सकते हैं आतंकी हमला : सूत्र
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार का शक्ति परीक्षण, 2 बसों में विधानसभा पहुंचे BJP विधायक

शपथ से ठीक पहले मोदी से मिले शाह, अटकलों का बाजार गर्म

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में मिली बंपर जीत के बाद गुरुवार शाम सात बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने नये कार्यकल के लिए शपथ लेने वाले हैं। सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रपति भवन में आयोजित करीब 90 मिनट के कार्यक्रम में मोदी समेत करीब पांच दर्जन मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी। इससे पहले मंत्रियों के चयण के लिए बीजेपी में माथा-पच्ची का दौर जारी है।

गुरुवार को नई सरकार की गठन और शपथ ग्रहण समारोह से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने एक और बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। बीजेपी के दो शीर्ष नेताओं की यह अहम मुलाकात पीएम मोदी के आधिकारिक आवास पर हुई है। सूत्रों के अनुसार यह बैठक भी मंत्रियों की सूची पर अंतिम मुहर को लेकर हुई है।

बीते तीन दिनों के अंदर मोदी और शाह की यह तीसरी मुलाकात हुई है। जिसमें उन सांसदों की सूची को अंतिम रूप दिया जा सकता है जो गुरुवार शाम पद व गोपनीयता की शपथ लेंगे। इससे पहले मोदी और शाह की मुलाकात मंगलवार और बुधवार को भी हुई थी। जिसमें नई सरकार की गठन को लेकर विचार-विमर्श किया गया है।

गौरतलब है कि चुनावी नतीजों के बाद से ही ऐसी चर्चा चरम पर रही है कि इस बाद मोदी मंत्रिमंडल में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी शामिल हो रहे हैं। अगर वाकई ऐसा होता है तो उन्हें गृह, रक्षा, वित्त या विदेश मंत्रालय की कमान सौंपी जा सकती है। हालांकि सूत्रों की माने तो शाह बीजेपी अध्यक्ष ही बने रहना चाहते हैं। इस तरह से शाह के मंत्री बनने पर जारी सस्पेंस अब भी बरकरार है।

आपको बता दें कि साल 2014 में पहली बार पीएम बने नरेंद्र मोदी के नाम पर 2019 चुनाव में खास तौर पर बीजेपी (303 सीट) और NDA को बड़ी जीत मिली है। जिसके बाद नरेंद्र मोदी लगातार दूसरी बार शपथ ले रहे है। पीएम मोदी की शपथ ग्रहण की लगभग सभी तैयारियां पुरी कर ली गई है। इस बार पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में बिम्सटेक समेत 14 देशों के राष्ट्राध्यक्ष समेत 6 हाजर से अधिक लोग शामिल हो रहे हैं। देश के इतिहास में शायद पहली बार ऐसा हो रहा है जब राष्ट्रपति भवन एक साथ 6 हजार से भी अधिक मेहमानों की मेहमानवाजी करने जा रहा है।

loading...