Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

अमित शाह का बड़ा बयान- सब को चुन चुन बाहर निकालेंगे, लेकिन इन्हें मिलेगी नागरिकता

जयपुर: असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर यानी एनआरसी के ड्राफ्ट का विरोध करने वाले लोगों पर निसाना साधते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने एक बार फिर से बड़ा दिया है। राजस्थान के जयपुर में अपने एक दिन के कार्यक्रम के तहत एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने बांग्लादेशी घुसपैठियों के मसले पर बीजेपी की नीति को स्पष्ट करते हुए कहा कि सभी घुसपैठियों को चुन-चुन कर बाहर निकालेंगे।

पार्टी कार्यकर्ताओं के शक्ति केंद्र सम्मेलन को संबोधित करते हुए पार्टी अध्यक्ष ने कहा कि, बीजेपी का संकल्प है कि एक भी बांग्लादेशी घुसपैठिया भारत में रहने नहीं देंगे, सभी को चुन-चुन कर बाहर करेंगे। बता दें कि हाल ही में भाजपा शासित राज्य असम में एनआरसी ड्राफ्ट जारी किया गया था। जिसके बाद बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत कुछ अन्य विरोधी दलों ने भारी विरोध किया था।

अभी-अभी: तेलंगाना में हुए भंयकर हादसे में 45 लोगों की मौत, वीडियो देखिए

एनआरसी ड्राफ्ट का विरोध करने वालों पर हमला करता हुए शाह ने कहा कि, वोट बैंक की चिंता करने वाले मानवाधिकार का हवाला देते हैं, लेकिन उन्हें देश की और यहां के गरीबों की चिंता नहीं है। इसके साथ ही शाह ने पाकिस्तान से विस्थापित हिंदुओं के मसले पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिटीजन अमेंडमेंट बिल लाया है।

बेमौत मारे गए 26 मासूम और अब सड़क पर नाक रगड़ रहे हैं परिजन

शाह ने कहा कि इसमें हमने तय किया है कि अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश से आए सिख, हिंदू, बौद्ध एवंम जैन घुसपैठिए नहीं, बल्कि शरणार्थी हैं जिन्हें भारत की नागरिकता मिलेगी। बता दें कि एक दिनों के दौरा पर यहा पहुंचे शाह ने इससे पहले मोतीडूंगरी गणेश मंदिर जाकर दर्शन भी किया और फिर रैली को संबोधित किया। इसके अलावा शाह अन्य छोटे बड़े कार्यक्रमों में शामिल होने वाले हैं।

मरा हुआ बच्चा कैसे हो गया जिंदा- पीएम मोदी भी रह गए दंग, बजाने लगे ताली

गौर हो कि राजस्थान में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनाव की चर्चा जोरों पर हैं, ऐसे में शाह का यह दौरा चुनाव के लिहाज से काफी अहम माना जा रहा है।

loading...