Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पहुंचे राहुल गांधी
  • राहुल गांधी के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार
  • मां से आशीर्वाद लेने के लिए कल गुजरात जाएंगे मोदी
  • सूरत अग्निकांड में अब तक 21 की मौत, 3 के खिलाफ FIR दर्ज
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

अय्यर ने दी पत्रकार को मारने की धमकी, पूछा ऐसा सवाल की हो गए आग बबूला

नई दिल्ली : कांग्रेस के गर्म नेता मणिशंकर अय्यर ने एक प्रेस कांफ्रेस के दौरान एक पत्रकार को जान से मारने की धमकी दे डाली है। वे उस पत्रकार के सवाल से इतने आक्रोशित थे कि वे उस पर लगातार बरसते रहें। हालांकि उस पत्रकार ने अपने इस प्रश्न के लिए उनसे माफी भी मांगी, लेकिन वे नहीं मानें। और उन्होंने उस पत्रकार को सवाल पूछने से भी रोक दिया। जिसके बाद उन्होंने मीडिया पर आरोप लगाया कि वे उन्हीं चुनिंदा बयानों को प्रचारित करते है, जो उसे 'सूट' करता है।

आखिर पत्रकार ने ऐसा क्या पूछा कि आग बबूला हो उठे अय्यर

दरअसल बात यह है कि अय्यर मंगलवार को पंजाब सरकार के गेस्ट हाउस में टीवी रिपोर्टरों के साथ एक प्रेस कांफ्रेंस कर रहें थे। जिसमें एक पत्रकार ने उनके द्वारा हालहीं में लिखे गए लेख के बारे में पूछा। जिसमें उन्होंने पीएम मोदी को ‘नीच’ कहा था। अय्यर ने अपने इस बयान को तर्कसंगत बताया और कहा कि मेदी 23 मई को सरकार से बाहर हो जाएंगे। हालांकि इस प्रश्न से अय्यर बिफर पड़े औऱ उन्होंने अपना धैर्य खो दिया। इस दौरान उन्होंने अपनी मुट्ठी हिलाते हुए एक माइक्रोफोन खींच लिया और कहा कि आप मुझसे सवाल नहीं पूछ सकते। जिसके बाद उन्होंने कहा, 'आई विल हिट यू (मैं आपको मार दूंगा)।'

आपको बता दें कि इससे भी पहले अय्यर ने मोदी को लेकर ऐसी टिप्पणी को थी जिसके बाद कांग्रेस ने उन्हें अपने पार्टी से निष्कासित कर दिया। फिर 18 अगस्त 2018 को पार्टी ने उनकी सेवा बहाल कर दी। अब देखते हैं कि एक बार फिर मणिशंकर अय्यर का इस बयान पर कांग्रेस क्या कदम उठाती है? क्या अय्यर के इस तरह के बयान से कांग्रेस को सियासी लाभ मिल पाएगा या वे कांग्रेस के लिए एक बार फिर बड़ी मुसीबत बन सकते है।

loading...