Breaking News
  • अंडमान के हैवलॉक द्वीप पर 800 टूरिस्टं फंसे, नेवी का रेस्यूंद्र ऑपरेशन
  • राज्यसभा और लोकसभा में नोटबंदी पर हंगामा
  • श्रीहरिकोटा: सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से दूरसंवेदी उपग्रह RESOURCESAT-2A का सफल प्रक्षेपण

आधी रात से बंद हुए 500 और 1000 रुपए के नोट..

NEW DELHI:- पीएम नरेद्र मोदी ने सोमवार को एक बड़ा झटका दिया है। पीएम मोदी ने सोमवार को 500 और 1000 रूपए नोटो को बंद करने का ऐलान किया है। इसे कालाधन को रोकने के लिए मोदी का ऐतीहासिक कदम बताया जा रहा है।

पीएम ने कहा, ”मैं आज आपसे कुछ महत्वपूर्ण विषय और निर्णय साझा करूंगा. जब आपने हमें 2014 में सत्ता सौंपी थी उस समय देश की अर्थव्यवस्था ऐसी थी कि चर्चा थी कि ब्रिक्स में स्थित I लुढ़क रहा है. आप सभी के सहयोग और भरोसे से आज विश्व में भारत ने अपनी चमकती उपस्थिति दर्ज कराई है. ये सिर्फ दावा नहीं है, .आवाज़ IMF और वर्ल्ड बैंक से गूंज रही है. हमारी सरकार गरीबों को समर्पित है और रहेगी. हमारा मूल मंत्र है सबका साथ सबका विकास ये मूलमंत्र हमेशा रहेगा.”

पीएम ने कहा, ”देश को भ्रष्टाचार और कालेधन को खत्म करने के लिए एक सख्त तदम उठाना जारी हो गया है. आज रात 8.11.2016 की आधी रात से 500 और 1000 रुपये के नोट कानूनी रूप से अमान्य होगें. आज रात से 500 और 1000 के नोट महज कागज के टुकड़े रह जाएंगे. 500 और 1000 के नोट के अलावा सभी नोट पूर्व की तरह मान्य होंगे. इससे भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को मजबूती मिल्गी. 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट 10 नबंबर 2016 से लेकर 30 दिसंबर 2016 तक बैंक या डाकघर में जमा करवा सकते हैं. ये 50 दिन का समय है. पैसा जमा करवाने की कोई जल्दबाजी नहीं होगी.” पीएम ने कहा, ”तत्काल आवश्कता के लिए आप अपने मान्य पहचान पत्र के साथ किसी बैंक या डाकघर से 4000 रुपये तक की सीमा तक बदल सकते हैं. 10 नबंबर के बाद इस सीमा में बढोतरी की जाएगी.”

पीएम ने कहा, ”मानवीय दृष्टिकोण से सामन्य नागरिकों के लिए कुछ सुविधाएं दी जा रही हैं. अस्पतालों में 11 नवंबर 2016 की मध्यरात्रि तक अस्पताल, रेलवे, बस और हवाई टिकट काउंटर पर पुराने 500 और 1000 रुपये नोट मान्य होंगे. इसके अलावा पेट्रोल पंप पर भी 11 नवंबर 2016 की रात 12 बजे तक पुराने 500 और 1000 रुपये नोट मान्य होंगे.”

पीएम ने कहा, ”हम सुनते हैं कि एक गरीब ऑटो ड्राइवर उसके ऑटो में छूट गए सामान को लौटाने के लिए उसको ढूंढता है. अगर को कोई किसी से गलती से भी ज्यादा कीमत ले लेता है तो उसे बुला कर वापस कर देता.”

नरेंद्र मोदी, ”आतंकवाद की भयानकता को कौन नहीं जानता है. लेकिन कभी सोचा है कि इन आतंकियों को पैसा कहां से मिलता है. सीमापार के हमारे दुश्मन नकली नोटों के जरिए देश को तबाह कर रहे हैं. देश में कई बार नकली नोटों के कारोबार का खुलासा हुआ है.”

काले धन पर पीएम ने कहा, ”हमने सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में एक एसआईटी का गठन किया. लोगों को बेनामी संपत्ति घोषित करने की योजना शुरू की. हमने प्रयासों से कालाधन के चोर दरबाजों को बंद किया. इन प्रयासों से पिछले ढाई साल में सवा लाख करोड़ का काला धन वापस आया. देश का कौन सा नागरिक होगा जिसे अफसरों के पर छापा पड़ने की खबरों से दुख ना होता हो.”