Breaking News
  • बिहारः मुठभेड़ में खगड़िया के पसराहा थाना अध्यक्ष आशीष कुमार सिंह शहीद
  • J-K: पुलवामा में सुरक्षा बलों ने हिजबुल के एक आतंकी को मार गिराया
  • दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत 82.66 रुपए प्रति लीटर, डीजल 75.19 रुपए प्रति लीटर
  • J-K:स्थानीय निकाय चुनाव के लिए तीसरे चरण की वोटिंग जारी

यूपी पुलिस को बड़ी सफलता- मथुरा से 16 घुसपैठिया गिरफ्तार, क्या है पूरी सच्चाई

मथुरा: उत्तर प्रदेश के  मथुरा से 16 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार किए गए लोग बांग्लादेशी नागरिक बताए जाते हैं जिनके साथ एक भारतीय को भी गिरफ्तार किया गया। इस कार्रवाई को बड़ी सफलता बताते हुए मथुरा पुलिस ने ट्विटर के माध्य से जानकारी दी है। साथ ही पुलिस अधिकार ने गिरफ्तार किए गए लोगों के मीडिया के समने पेश किया और इनके बारे में विस्तार से बताया।

मामले की जानकारी देते हुए मथुरान पुलिस ने ट्वीट कर कहा, “थाना कोसीकलाँ पुलिस व स्थानीय अभिसूचना इकाई को मिली बडी सफलता अवैध रुप से भारत मे रह रहे 16 बांग्लादेशी नागरिक व एक शरण दाता को किया गिरफ्तार”। पुलिस के अनुसार इन्हें शरण देने वाले एक को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि दूसरे की तलाश जारी है।

नाना के बाद अब यौन शोषण के आरोप में फंसे पीएम मोदी के दिग्गज मंत्री

मामले को लेकर मथुरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने मंगलवार को कहा कि स्थानीय अभिसूचना इकाई को कोसीकलां की ईदगाह के पास वाल्मीकि बस्ती की कुछ झुग्गियों में अनजान लोगों के रहने की सूचना मिली थी। जिसके बाद पुलिस ने संबंधित इलाके में छापेमारी की तो याहां अवैध रूप से रह रहे 16 बांग्लादेशी नागरिकों और उन्हें शरण देने के आरोप में एक स्थानीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है।

खुफिया रिपोर्ट से खुलास- इसलिए महंत को अनशन से उठा कर ले गई थी पुलिस!

गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान 32 साल के मोहम्मद बकर, 33 साल के माहउर और उसकी पत्नी रिहाना  माहबुर, और उसकी पत्नी रितु, लिट्टन, मोसियाली और उसकी पत्नी सिरीना, किविरिया और उसका बेटा यूसुफ  मन्नन, मौहम्मद फारुख और उसकी पत्नी सपना, यासीन और यासीन की पत्नी राबिया और एक अन्य मीनू के तौर पर की गई है। जबकि इन्हें शरण देने वाले की एक पहचान 62 साल के इलियास के तौर पर हुई है जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि एक अन्य जगदीश की तलाश की जा रही है।

बड़ी खबर: अमेरिका से धमकी के बाद भी ईरान से तेल खरीदेगा भारत

पुलिस के अनुसार गिरफ्तार किए गए लोगों ने बताया कि सीमा पार कराने के उनसे वकार और मीनू नामक व्यक्तियों ने प्रति व्यक्ति आठ हजार रुपये लिए, जबकि जहां वह झुग्गी डालकर रहते हैं वो जगह इलियास की है जिसके बदले वे लोग प्रति महीने दो हजार रुपये का भूगतान करते हैं। जानकारी के अनुसार गिरफ्तार किए गए लोगों के पुलिस ने कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

loading...