Breaking News
  • जम्मू-कश्मी: सोपोर में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़, कई इलाकों में मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद
  • सपा-बसपा सरकारों के पास गरीबी को हटाने के लिए कोई एजेंडा नहीं था: सीएम योगी
  • सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने पर देश मनाएगा पराक्रम पर्व
  • आज सुबह 9:17 बजे असम की बारपेटा में 4.7 तीव्रता से भूकंप के झटके

महाराष्ट्र: विकासशील भारत की दिल दहला देने वाली तस्वीर...

मुंबई: विश्व गुरु बनने के मुहाने पर बैठे भारत की एक ऐसी तस्वीर सामने आई जिसे देखकर आपका कलेजा मुंह में आ जाएगा, अगर ऐसा नहीं होता है तो शायद आपकी आँखों को अच्छे इलाज की जरूरत है, जिसपर एक भक्ति का चश्मा लगा हुआ है?

पूरा मामले महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले का है। जिसने कथित विकासवादी पार्टी और उसके स्वयंभू विकास पुरुष के भारत को विश्व गुरु बनाने के सपने को ऐसा झकझोरा जैसे कोई मालिक अपने सोते हुए नौकर को लात मार कर उठाता है और उसका सपना वहीँ मिटटी हो जाता है। दरअसल मामला राजनीति से बढ़कर देश के घटिया' सिस्टम से भी जुड़ा है कि कदर लापरवाहियों की उस हद से भी नीचे जाया जा सकता है, जिसकी कोई हद नहीं है। महाराष्ट्र के नांदेड जिले के केशंकरराव चव्हाण सरकारी अस्पताल में एक ऐसी हैरान कर देने वाली कुव्यवस्था इजात की गयी है। जिसको देखकर, जानकर और समझकर आप भारत के कथित विकास की तस्वीर का अंदाजा लगा सकते हो कि हम कहाँ पर हैं? इस सरकारी अस्पताल का एक विडियो जारी हुआ है।

थम नहीं रही गुजरात बीजेपी में कलह: दो विधायकों ने दी धमकी...

उस वीडियो में आप आसानी से देख सकते है कि एक मरीज को बेडशीट पर बिठाकर खींचते हुए दरवाजे तक ले जाया जा रहा है। यहाँ महिला को स्ट्रेचर नहीं नसीब हुआ था, उसे बेडशीट पर बिधा कर फर्श पर ही खींचते हुए दरवाजे तक पहुंचा दिया गया था। वीडियो ज्यादा देर का नहीं है। लेकिन कुछ ही सेकेंड के वीडियो ने भारत की सरकारों और देश के सिस्टम पर कालिख पोत दी है। वीडियो में देख सकते हैं कि महिला के पैरों में पट्टी बंधी हुई है और कुछ लोग उसे बेडशीट पर बैठा कर खींच रहे हैं।

हिमाचल में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल: एक साथ दर्जनों IAS का तबादला

ऐसा करने वाले लोग महिला के परिवारवाले ही है। जोकि स्ट्रेचर न मिलने पर महिला कि इस तरह ले जा रहे हैं। घटना का वीडियों हाल ही का है। लेकिन इस वीडियो ने 70 साल के कथित विकास का बैंड बाजा बजा दिया है जिसको लेकर गला फाड़-फाड़ कर लूटखोर पार्टियाँ महिमा मंडित करती आई हैं। हालाँकि मामला मीडिया में आने के बाद अस्पताल के डीन डॉ. चंद्रकांत महास ने एक न्यूज़ एजेंसी से कहा है कि घटना के संबंध में उन्हें कोई शिकायत नहीं मिली है लेकिन फिर भी उन्होंने विभागीय जांच के आदेश दे दिए गये हैं।

यह भी देखें-

loading...