Breaking News
  • जम्मू-कश्मी: सोपोर में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़, कई इलाकों में मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद
  • सपा-बसपा सरकारों के पास गरीबी को हटाने के लिए कोई एजेंडा नहीं था: सीएम योगी
  • सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने पर देश मनाएगा पराक्रम पर्व
  • आज सुबह 9:17 बजे असम की बारपेटा में 4.7 तीव्रता से भूकंप के झटके

जलमग्न हुआ नागपुर: विधानसभा में घुसा पानी, पांच सौ बच्चों पर आफत!

नागपुर: देश की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले मुंबई में बारिश का कहर जारी है। वहीँ मुंबई से कुछ ही किलोमीटर दूर स्थित नागपुर में हुई बारिश ने राज्य सरकार और नगर निगम की जमकर फजीहत करवा दी है।

बतादें कि जारी जानकारी के मुताबिक़ नागपुर में शुक्रवार से बारिश का कहर जारी है। वहीँ इस बारिश ने सरकार और प्रशासन के कुव्यवस्था की भी पोल-पट्टी खोल दी है। शुक्रवार को भारी बारिश ने विधानसभा में कार्यवाही में भी खलल डाल दिया। यहाँ हुई बारिश का पानी विधानसभा के सर्किट रूम में घुस गया। जिससे विधानसभा भवन की बिजली ही गुल हो गयी। ऐसे में कार्रवाई के दौरान ही विधानसभा अध्यक्ष ने घोषणा करते हुए कार्यवाही को स्थगित किया।

पंजाब: अब सीरिंज खरीदना होगा गया मुश्किल, जानिए क्यों लिया गया है फैसला...

वहीँ इस घटना के बाद सरकार की सहयोगी पार्टी शिवसेना सहित विपक्ष ने सरकार और बीजेपी पर बड़ा हमला किया है। शिवसेना के एक नेता ने कहा कि ऐसा पहलीबार हो रहा है जब बारिश के कारण विधानसभा की बिजली गुल हुई हो और कार्यवाही रुकी हो। उन्होंने कहा कि इस घटना ने सरकार और यहाँ के नगर निगम की हर दर्जे की लापरवाही को उजागर कर दिया है। शिवसेना नेता ने आगे कहा कि नगर निगम बीजेपी के पास है, अगर मामला मुंबई का होता तो अबतक शिवसेना को जिम्मेदार ठहरा दिया जाता। लेकिन नागपुर में विधानसभा में घुसे पानी पर सब खामोश है। दरअसल नागपुर में विधानसभा का मानसून सत्र चल रहा है।

बिहार की राजनीति में भूचाल: इस बड़े नेता से मिलने दिल्ली पहुंचे नीतीश कुमार!

शुक्रवार को बारिश के बाद कार्यवाही बाधित हो गयी। पूरी परिसर में पानी ही पानी दिख रहा था। विधायक से लेकर मंत्री तक पैंट और पयजामा समेट कर निकल रहे थे और कुव्यवस्था पर भडक रहे थे। वहीँ दूसरी और भारी बारिश में नागपुर के पिपला इलाके के आदर्स संस्कार स्कूल के 500 बच्चों की जिंदगी खतरे में पड़ गई। सुबह जब बच्चे स्कूल पहुंचे तबतक तो हालात सामान्य थे लेकिन बारिश के साथ ही लगातार पानी बढ़ता गया। जिससे बच्चे स्कूल के अंदर ही फंस गये। जिसके बाद पुलिस ने बच्चों को नाव और ट्रकों के सहारे निकालना शुरू किया। बारिश को देखते हुए जिलाधिकारी ने स्कूल कॉलेजों में दो सिन की छुट्टी की घोषणा की है।

यह भी देखें-

loading...