Breaking News
  • 21 जून को देश समेत दुनिया के अन्य देशों में अनंतराष्ट्रीय योग दिवस
  • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर देहरादून में पीएम मोदी ने करीब 55 हजार लोगों के साथ किया योग
  • अलग-अलग जगहों पर लगे योग शिविर में शामिल हुए नेता और मंत्री
  • कोटा में दो लाख लोगों को 90 मिनट योग सिखाकर बाबा रामदेव ने बनाया नया वर्ल्ड रिकॉर्ड

जिसका डर था वही हुआ: बीजेपी आईटी सेल ने वायरल की प्रणब दा की एडिटेड फोटो?

नागपुर: सोशल मीडिया पर फोटोशॉप की हुई एडिटेड फोटो और फर्जी जानकारी फैलाने के मामले में बीजेपी की आईटी सेल पर हमेशा से सवाल उठा रहा है। ऐसा ही कुछ गुरुवार को किया गया है। नागपुर में आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल हुए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की एक फर्जी एडिटेड फोटो वायरल की जा रही है।

बतादें कि गुरुवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यक्रम में शामिल हुए पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस विचारधारा के प्रबल समर्थक प्रणब मुखर्जी की सोशल मीडिया पर एडिटेड फोटो धडाधड शेयर की जा रही है। जिसके उन्हें संघ की प्रार्थना के दौरान की स्वयमसेवक की मुद्रा में दिखाकार कहा जा रहा है कि कांग्रेस नेता ने थामा आरएसएस का हाथ, ऐसे ही कई अन्य बातों के साथ फोटो को वायरल कर समाज में झूठ फैलाया जा रहा है। जिसके बाद प्रणब दा की बेटी शर्मिष्ठ मुखर्जी ने ट्वीट कर लिखा है कि, वही हुआ है जिस बात का डर था।

See, this is exactly what I was fearing & warned my father about. Not even few hours have passed, but BJP/RSS dirty tricks dept is at work in full swing! https://t.co/dII3nBSxb6

उन्होंने लिखा कि, जिस बात का उन्हें डर लग रहा था और उन्होंने अपने पिता को इस बारे में आगाह भी किया था, वही हुआ। उन्होंने आरोप लगाया कि जिसका डर था, बीजेपी/आरएसएस के ‘डर्टी ट्रिक्स डिपार्टमेंट’ ने वही किया। प्रणब दा की फोटो को स्वयंसेवक की मुद्रा में एडिट कर दिखाकर  फैलाया जा रहा है। जोकि उन्होंने किया ही नहीं था।

ऐसे में सवाल उठता है कि बीजेपी और कितना गिरेगी। क्या इस एडिटेड फोटो पर आरएसएस प्रमुख मोहन भगवत कोई बयान जारी करेंगे। जैसा कि कुछ हुआ ही नहीं है। गुरुवार को ही प्रणब दा ने आरएसएस मुख्यालय पर पहुंचकर शिक्षा वर्ग को संबोधित किया था। इससे पहले उन्होंने आरएसएस के संस्थापक डॉक्टर केशव बलिराम हेडगेवार को माँ भारती का सपूत बताया था। जिसके बाद अपने संबोधन में प्रणब दा ने स्वयंसेवकों को नेहरु-गाँधी का राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाया था।

यह भी देखें-

loading...