Breaking News
  • युद्ध अपराधों के खिलाफ अभियान नहीं रोक सकता पाकिस्तान: WBO
  • विरोधी पहले ही मैदान छोड़कर भाग चुके हैं- घर बैठे ट्वीट कर रहे है: योगी
  • भारतीय छात्रा की तस्वीर से छेड़छाड़ कर पोस्ट भेजने के मामले में 'पाकिस्तान डिफेंस' का वेरिफ़ाइड अकाउंट सस्पेंड
  • गोवा: आज से शुरू हो रहा है 48वां भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव

शानदार नौकरी: GOOGLE को बताइए उसकी खामियां और कमाएं अंधाधुन पैसे...

अगर आप घर बैठे अच्छी कमाई करने की सोच रहे हैं तब आपके लिए गूगल का यह ऑफर शानदार साबित हो सकता है। इसके लिए आपको गूगल के प्रोडक्ट में खामिया खोजनी होगी, इसके बदले आप लाखो-करोड़ों की कमाई कर सकते हैं। दरइसल कंपनी अपने सभी प्रोडक्ट्स का रिव्यु कराती है, ताकि प्रोडक्ट की खामियों को पकड़ा जा सके।

इसके लिए गूगल ने खास तौर पर कर्मचारियों को भी काम पर रखती है, इसके साथ-साथ लोगों के पास भी यह मौका होता है कि आप इसके प्रोडक्ट में खामिया और इसके उपाय बताए जिसके बदले आपको पैसा भी चुकाया जाता है। एक रिपोर्ट के अनुसार एक स्कूल के छात्र ने कंपनी को एक छोटी सी कमी के बारे में बताया था, इसके कुछ समय बाद उस कमी को ठीक कर के Google ने उसे 10 हजार डॉलर यानी करीब 6.5 लाख रुपये दिए।

आपको बता दें कि गूगल वलनरेबि‍लि‍टी प्रोग्राम, पैच रि‍वार्ड प्रोग्राम, क्रोम रि‍वार्ड प्रोग्राम, एंड्राइड सि‍क्‍युरि‍टी रि‍वॉर्ड प्रोग्राम के जरीए आप मोटी रकम कमा सकते हैं। गौर हो कि इन चारों प्रोग्राम में अलग-अलग प्रोडक्ट कवर होते हैं और सभी के लिए अलग-अलग रि‍वॉर्ड भी मि‍लता है। इसके लिए आपको प्रोडक्ट में किसी कमी के बारे में बताना होगा।

याफिर आप किसी बग या सुरक्षा से जुडी जानकारी दे कर भी पैसा कमा सकते हैं। ऐसे में आगर आपके पास किसी खामी के लिए कोई सोल्यूशन देना चाहते हैं तो उसे भी कंपीन को दे सकते हैं। इन खामियों को चार भाग में बांटा गया है, जिसके तहत क्रि‍टि‍कल, हाई, मॉडरेट और लो का विकल्प मिलता है।

इस तहर से आपने किस तरह की कमी के बारे में कंपनी को बताया है, या फिर किसी कमी के लिए सोल्यूशन दिया है, इसके आधार पर आपको रिवॉर्ड दिया जाएगा। इसके लिए आपको सबसे पहले https://www.google.com/about/appsecurity/programs-home/ जाना होगा, इसके बाद आपको पांच ऑफर मिलेगा, इसके आगे की जानकारी आप यहीं से प्राप्त कर सकते हैं कि आपको किस काम के लिए कितने पैसे मिलेंगे!

 

loading...