Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

विमान का ऑफर ठुकरा राहुल ने मांगी आजादी!

नोएडा : जम्मू-कश्मीर धारा 370 से आजादी मिल ही गई। लेकिन इस आजादी के बाद मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक कई तरह के सवाल हिचकोले खा रहे है। जैसे की 370 की जंजीर से आजादी मिलने के बाद जम्मू-कश्मीर में हालात कैसे है? क्या वाकई जन्नत की फिजा में सब कुछ समान्य है।

भारत सरकार तो दावा करती है कि जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटने के बाद स्थिति समान्य है। सरकार अपने फैसले को कश्मीर के लोगों के लिए भाग्य बदलने वाला बताती है। लेकिन विपक्ष को गुलामी की आशंका सता रही है। जिसका नतीजा है कि बीजेपी और कांग्रेस के बीच जारी हो हंगामे के बीच राज्यपाल और राहुल गांधी ने नया बखेड़ा शुरु कर दिया है। इनके बीच जुबानी जंग छिड़ी है।

इस बवाल का आरंभ कुछ यूं है कि राहुल गांधी जम्मू-कश्मीर की खराब हालात का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जवाब की मांग करते हैं। इसके साथ ही राहुल विपक्ष के नेताओं के साथ जन्नत में सैर-सपाटे की मंजूरी मांगते हैं।

तो राज्यपाल की मेहरबानी देखिए कि उन्होंने सिर्फ इजाजत मांगने वाले राहुल के लिए विमान का ऑफर दे दिया। लेकिन राहुल ने महोदय का विमान कैंसिल किया और तंज का तमाचा जड़ दिया। राहुल की माने तो हमें विमान नहीं जम्मू-कश्मीर में आजादी से घूमने की आजादी चाहिए, वहां के लोगों और नेताओं से मिलने की आज़ादी चाहिए।

loading...