Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • कर्नाटक: रिसॉर्ट में ठहरे कांग्रेस विधायकों के बीच मारपीट
  • 2019 की लड़ाई लीडर्स और डीलर्स के बीच की लड़ाई है: भाजपा
  • पुणें में खेलों इंडिया यूथ गेम्स का समापन समारोह

जवानों की शहादत पर भी नहीं पसीजा BJP-PDP सरकार का दिल, पाकिस्तान से बातचीत जरुरी!

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर में पिछले तीन दिनों में सेना के कैंप पर अलग अलग दो आतंकी हमले हो चुके हैं। जिसमें कई जवानों ने अपनी शहादत दी है। जवानों की शहादत के साथ ही कई आम नागरिक भी मारे जा चुके हैं, लेकिन पाकिस्तान की कायराना हरकतों पर जम्मू कश्मीर की सीएम महबूबा का रुख अभी भी नर्म बना हुआ है।

बतादें कि शनिवार से लेकर सोमवार तक जम्मू कश्मीर में सेना के दो अलग अलग कैंप पर हमला हो चुका है। इस हमलों में 6 के करीब जवान शहीद हो गये हैं। वहीँ आतंकी हमलों में पाकिस्तानी आतंकी संगठनों का हाथ साबित होने के बाद भी राज्य की बीजेपी पीडीपी गठ्बंधित सरकार पाकिस्तान के प्रति अभी भी नरमी से पेश आने की वकालत कर रही है। श्रीनगर के सुंजवां अरामी कैंप और श्रीनगर सीआरपीएफ कैंप पर हुए आतंकी हमले के बाद भी राज्य की गठ्बंधित सरकार का पाकिस्तान प्यार पनपा हुआ है।

मिलेगा सस्ता तेल: भारत ने खरीदी तेल उत्पादक देश से 10 प्रतिशत की हिस्सेदारी

सीमा पर सीजफायर और आतंकी हमले के बाद भी जम्मू कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने पाकिस्तान से बातचीत जरूरी को बताया है। सोमवार को सीएम महबूबा के ट्विटर से ट्वीट कर कहा गया है कि 'इस रक्तपात को रोकना चाहते हैं तो पाकिस्तान से बातचीत जरूरी है। मुझे पता है कि आज मुझे टीवी न्यूज चैनलों के ऐंकरों द्वारा ऐंटी नैशनल का तमगा दे दिया जाएगा लेकिन मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता। जम्मू-कश्मीर के लोग पीड़ित हैं।

ओमान: शिव की शरण में PM मोदी, हुए आठ समझौते

हमें बात करनी होगी क्योंकि युद्ध उपाय नहीं है।' राज्य की बीजेपी और पीडीपी गठ्बंधित महबूबा सरकार का यह रवैया तब है जब पाकिस्तान सेना द्वारा लगातार भारत जवानों को मारा जा रहा है, साथ ही आतंकियों की घुसपैठ कराकर सेना के कैम्पों पर आतंकी हमले हो रहे हैं। ऐसे में महबूबा का पाक प्रेम जवानों की शहादत पर मिटटी डालने से कम नहीं है।   

यह भी देखें-

loading...