Breaking News
  • राजस्थान: अमित शाह का ऐलान, वसुंधरा राजे होंगी सीएम उम्मीदवार
  • GST काउंसिल ने घटाई दरें, 100 से ज्यादा सामान होंगे सस्ते, सैनिट्री नैपकिन अब टैक्स फ्री
  • दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में 3 आतंकी ढेर, मुठभेड़ की जगह से हाथियार बरामद

किम जोंग से दोस्ती के लिए राष्ट्रपति ट्रंप ने तोड़ दिया 70 साल पुराना फैसला...

सियोल: अमेरिका और नॉर्थ कोरिया की दोस्ती परवान चढ़ने लगी है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है कि अमेरिका ने साउथ कोरिया के सियोल में पिछले सात दशकों से तैनात सेना को वापस बुला रही है। इससे पहले अमेरिका ने साउथ कोरिया के साथ अगस्त में होने वाली सैन्य ड्रिल को रद्द कर दिया था।

बतादें कि अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के बीच कम होते तनाव और स्थितियां बदलने के बाद अब अमेरिका ने नार्थ कोरिया से दोस्ती की आखिर अबतक का सबसे बड़ा फैसला लिया है। दरअसल आगामी 6 जुलाई को अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो नॉर्थ कोरिया जाने वाले हैं। उससे पहले अमेरिका ने पिछले करीब 70 सालों से साउथ कोरिया की राजधानी अमेरिकी सेना की मौजूदगी को खत्म करने की घोषणा की है। हालाँकि सेना का मुख्यालय अभी बना रहेगा उसको साउथ कोरिया के रियल स्टेट के क्षेत्र से हटाकर राजधानी सियोल से 70 किलोमीटर दूर कैम्प हम्फ्रे में नया सैन्य मुख्यालय बनाया है।

अभी अभी: FATF ने किया पाकिस्तान पर बड़ा सर्जिकल स्ट्राइक, तबाह हो जाएगी अर्थ...

जिसका शुक्रवार को उद्घाटन किया गया था। इस कदम को नॉर्थ कोरिया के साथ बढ़ते रिश्तों के रूप में भी देखा जा रहा है। दरअसल दूसरे विश्व युद्ध के बाद जापान को सबक सिखाने लिए सियोल में अमेरिका ने अपना सैन्य अड्डा बनाया था। लेकिन बाद में यह साउथ कोरिया और नॉर्थ कोरिया के बीच तनाव उसकी आक्रमणकारी नीति के निवारण के तौर पर देखा जाता था।

मंदसौर रेप: पीड़िता ने अपनी मां से की भावुक फ़रियाद, जानकर रो देंगे आप...

यहाँ सियोल में 1945 से अमेरिका सेना तैनात है। वहीँ आगामी 6 जुलाई को अमेरिकी विदेश मंत्री अपने प्रतिनिधि मंडल के साथ नार्थ कोरिया किम जोंग उन से मुलाकात करने लिए जा रहे हैं। यह इससे पहले 12 जून को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के शासक किम जोंग उन के बीच सिंगापुर में पहलीबार ऐतिहासिक वार्ता हुई थी।

यह भी देखें-

loading...