Breaking News
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट में आज चार नए जजों को दिलाई शपथ
  • ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम की सफलता पर भड़का पाकिस्तान
  • आर्मी चीफ बिपिन रावत का बयान, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है
  • गृह मंत्री ने कहा कि कहा कि 2021 की जनगणना में मोबाइल एप का प्रयोग होगा

पीएम मोदी के सामने कोमल हुए कठोर ट्रंप, कहा कोई दबाव नहीं, सब सहीं हो जाएगा

नोएडा : जी 20 सम्मेलन से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत को एक सख्त अंदाज में धमकी देते हुए ट्वीट किया था कि, ‘भारत ने वर्षों से अमेरिका के खिलाफ बहुत ज्यादा टैरिफ लगाया है। अब हाल ही टैरिफ में और इजाफा किया है। यह स्वीकार नहीं है और भारत को टैरिफ को वापस लेना ही पड़ेगा।' जिससे यह उम्मीद लगाएं जाने लगे कि अब यह सम्मेलन काफी गहमागहमी भरा होगा। जिसके बाद लोगो की नजरें पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रंप पर टिक गई। लेकिन जब मोदी और ट्रंप आमने सामने हुए तो जो हुआ वो काफी चौंकानेवाला था।

दरअसल जब पीएम मोदी और ट्रंप आमने सामने आये तो डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ की। ट्रंप ने कहा कि, आइए हम हर क्षेत्र में काम करें, इसमें मिलिट्री भी शामिल हो। आज हम व्यापार पर चर्चा करेंगे। आपने वास्तव में चुनाव में शानदार जीत दर्ज की है। आप इस लायक हैं। आपने बहुत अच्छा काम किया है। कई गुट एक दूसरे के खिलाफ लड़ रहे थे, आप सभी गुटों को एक साथ ले आएं। आपने लोगों को साथ लाने का बड़ा काम किया है। मुझे याद है कि जब आप पहली बार सत्ता में आए थे तब कई धड़े थे और वे आपस में लड़ते थे और अब वे एकसाथ हैं। यह आपकी क्षमता का सबसे बड़ा सम्मान है।'

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि 'हम लोग काफी अच्छे दोस्त हो गए हैं, हमारे देशों में इससे पहले कभी इतनी नजदीकी नहीं हुई। मैं ये बात पूरे भरोसे से कह सकता हूं। हम लोग कई क्षेत्रों में खासकर मिलिटरी में मिलकर काम करेंगे। आज हमलोग कारोबार के मुद्दे पर भी बात कर रहे हैं।' वहीं ईरान के मुद्दे पर ट्रंप ने कहा, हमारे पास काफी वक्त है, कोई जल्दी नहीं है। वे समय ले सकते हैं। समय को लेकर कोई दबाव नहीं है। मुझे लगता है कि अंत में सब सही हो जाएगा। अगर यह काम करता है तो ठीक नहीं तो आप लोग इसके बारे में कुछ सुनेंगे।

आपको बता दें कि, कुछ दिनों पहले ही अमेरिका ने भारत को मिले जेनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंस (जीएसपी) दर्जे को खत्म करने की धमकी दी थी, जिसके एवज में भारत ने भी अमेरिकी सामानों पर ज्यादा टैरिफ लगाने की तैयारी कर ली थी। जिससे अमेरिका नाराज हो गया था, और उसने भारत से इस बारे में कई बार बात करने की कोशिश की लेकिन भारत ने भी सख्त लहजे में अमेरिका को ये जवाब दे दिया कि यह टैरिफ भारतीय दृष्टिकोण से भारत के लिए काफी लाभदायक है। जिसके बाद एक बार फिर अमेरिका का यह ट्विट और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का यह अंदाज काफी कुछ कह रहा है। अब देखना यह हैं इस जी20 सम्मेलन का शेष समय कैसा रहता है?

loading...