Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पहुंचे राहुल गांधी
  • राहुल गांधी के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार
  • मां से आशीर्वाद लेने के लिए कल गुजरात जाएंगे मोदी
  • सूरत अग्निकांड में अब तक 21 की मौत, 3 के खिलाफ FIR दर्ज
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

पाकिस्तान के बालाकोट में अब भी पड़ी है आतंकियों की लाशें, मीडिया को रोक रही है सरकार

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तानी सीमा में प्रवेश कर आतंकियों के खिलाफ किए गए एयर स्ट्राइक को लेकर एक हैरान कर देने वाला खुलासा हुआ है। इससे पहले बता दें कि सेना की एयर स्ट्राइक पर सरकार का दावा है कि इस असैन्य कार्रवाई में आतंकियों को भारी नुकसान हुआ है। जबकि पाकिस्तान किसी भी तरह के नुकसान से इनकार करता रहा है।

इस बीच मीडिया रिपोर्ट के हवाले से दावा किया जा रहा है कि, जिस जगह पर भारतीय सेना ने एयर स्ट्राइक किया वहां अब भी आतंकियों की लाशें मौजूद है। बताया जाता है कि पाकिस्तान सरकार ने मीडिया को वहां जाने से रोक दिया है, क्योंकि सरकार उस जगह को साफ करवा रही है।

टीम इंडिया के आर्मी कैप पहनने पर पाकिस्तान में बवाल, दो मंत्रियों ने खोया आपा…

जानकारी के अनुसार पाकिस्तान सरकार ने पिछले 9 दिनों में तीन बार बालाकोट जाने से रोका। बता दें कि बालाकोट में पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हेडक्वार्टर है, जिसने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली है।

गौरतलब हो कि पुलवामा आतंकी हमले ठिक 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया था। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार भारतीय सेना की एयर स्ट्राइक में सौकड़ों की संख्या में आतंकी और उनके प्रशिक्षक मारे गए हैं। इसलिए पाकिस्तानी सरकार मीडिया को घटनास्थल पर जाने से रोक रही है, ताकि उसका एक और झूठ बेनकाब न हो जाए। खबरों के अनुसार मीडिया को घटनास्थल से सौ मीटर की दूरी पर रखा गया है।  

पाकिस्तान का एक और बड़ा झूठ बेनकाब

loading...