Breaking News
  • संसद के शीतकालीन सत्र से पहले सरकार ने आज बुलाई सर्वदलीय बैठक
  • हरियाणा: चौटाला परिवार में टूट, ओमप्रकाश चौटाला के पोते ने बनाई 'जननायक जनता पार्टी'
  • एडिलेड टेस्ट में भारत की ऐतिहासिक जीत, ऑस्ट्रेलिया को 31 रनों से हराया

फीफा के लिए सऊदी से साइकिल चलाकर मॉस्को पहुंचा युवक, तय की इतनी दूरी

मॉस्को: यहां रूस की राजधानी में गुरुवार से फुटबॉल का महाकुंभ यानी फीफा विश्वकप 2018 का आगाज हो रहा है। आगाज के साथ ही आज पहना मैच मेजबान रूसी टीम और सऊदी अरब के बीच लुज्निकी स्टेडियम में खेला जाएगा, बता दें कि इसी स्टेडियम में 14 जुलाई को फीफा 2018 का अंतिम या फाइनल मैच भी खेला जाएगा।

दुनिया के सबसे चर्चित खेल फुलबॉल के सबसे बड़े आयोजन की चर्चा पिछले काफी दिनों से पूरी दुनिया में हो रही है। फीका नाम का यह ‘खून’ दुनिया के हर देश के लोगों के रगो में दौड़ता है। फीफा के एक से बढ़कर एक प्रशंसक दुनिया के अलग-अलग देशों में लाखों-करोड़ो की संख्या में हैं। लेकिन आज जिस प्रशंसक की बात कर रहे हैं उन्होंने एक अनोखा रिकॉर्ड कायम किया है।

बेहद खूबसूरत और बोल्ड हैं एक्ट्रेस तापसी पन्नू की बहन, फिल्मों में कभी नहीं दिखेंगी

इससे पहले की आपको इस अनोखे पशंसक का नाम और पता बताए, ये जानिए कि फीफा 2018 के तहत पहला मैच सऊदी अरब और रूस के बीच है। इस मैच को देखने के लिए दुनिया भर से फुटबॉल प्रशंसक मॉस्को पहुंचने के लिए तरह तरह के रास्तों का इस्तेमाल कर रहे है, वहीं साऊदी अरब के इस अनोखे प्रशंसक ने साऊदी अरब से मॉस्को तक की दूरी करीब 5,145 किलोमीटर तक साइकिल से तय कर ली।

अपनी टीम को अपना समर्थन देने के लिए फहद अल-याहया नाम के इस शख्स ने 75 दिनों तक साइकिल चला कर रियाद से मॉस्को तक का सफर तय किया है। बताया जाता है कि फाहद अपने हाथों में देश का झंडा लिए साइकल पर सवार होकर चार देशों से होते हुए मॉस्को में पहुंचे हैं।

दुनिया के इन 3 दिग्गज खिलाड़ियों के लिए होगा आखिरी फीफा विश्व कप!

फुटबॉल के इस अनोखे प्रशंसक ने कहा कि, उसे रियाद क्षेत्र के प्रिंस फेसल बेन बदार अब्दुल्लाजीज ने देश का राष्ट्रध्वज दिया जिसे लेकर वह 5,145 किलोमीटर का सफर तय कर मॉस्को में सऊदी अरब के दूतावास पहुंचे हैं। फैन ने बताया कि मॉस्कों पहुंचने के बाद मैंने इस ध्वज को राजदूत राएद करीमिल को सौंप दिया।

इस अनोखे सफर के दौरान फहद को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा। आपको बता दें कि 28 साल के फहद एक साइकिलिस्ट हैं जिन्हें इस सफर के दौरान पीठ में दर्द की परेशानी हुई वहीं इसका टक्कर एक लॉरी से भी हुआ, हालांकि इसके बाद भी वह अपने सफर में कभी रूके नहीं और आगे बढ़ते ही गई।

मौत से पहले ही हो गया था श्रीदेवी का पुनर्जन्म, अब सामने आई तस्वीरें!

सफर पूरा फदह सेंट पीटर्सबर्ग में सऊदी अरब की टीम बेस पहुंचे, जहां सऊदी अरब फुटबाल महासंघ के अध्यक्ष अदेल एजात ने उनका स्वागत किया। फदह के अनुसार वह अपनी टीम को समर्थन देने के लिए ऐसा कदम उठाया है।

loading...