Breaking News
  • मालेगांव: 7 फरवरी को तय हो सकते हैं साध्वी प्रज्ञा, पुरोहित के खिलाफ आरोप
  • इराक की राजधानी बगदाद में एक साथ हुए दो आत्‍मघाती बम हमलों में 38 लोगों की मौत
  • अफगानिस्तान से बर्मा तक, तिब्बत से श्रीलंका तक सबका डीएनए एक: भागवत
  • काबुल: भारतीय दूतावास में गिरा रॉकेट, किसी के हताहत होने की कोई ख़बर नहीं

अमेरिका-नॉर्थ कोरिया विवाद: रूस ने भी तैनात की खतरनाक मिसाइलें

मास्को:  नार्थ कोरिया और अमेरिका के बीच बने जंग जैसे हालातों पर रूस की पैनी नजर है, ख़बरों की माने तो रूस के रक्षा विभाग ने अपनी मिसाइलो को अलर्ट पर कर दिया है, यह सभी मिसाइल डिफ़ेंस सिस्टम से इंटर-कॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल या अन्य बैलेस्टिक मिसाइल हैं जो किसी भी हमले को बीच में ही ध्वस्त कर देती हैं।

नॉर्थ कोरिया की धमकियों से बने संकट पर रूस की लगातार नजर बनी हुई है। अमेरिका और नार्थ कोरिया के बीच युद्ध की किसी भी संभावना के बीच रूस ने खुद को महफूज करते मिसाइलों को तैनात कर दिया है। इसकी जानकारी रूसी संसद के ऊपरी सदन के एक सदस्य विक्टर ओज़ेरॉव ने देते हुए बताया कि दोनों देशों के टकराव को देखते हुए वायुसेना और हवाई क्षेत्र सुरक्षा बलों को फ़ार ईस्ट इलाके में मुस्तैद किया गया है।

उत्तर कोरिया ने बुधवार को प्रशांत महासागर में अमरीकी द्वीप गुआम पर हमले की धमकी दी थी। नार्थ कोरिया की धमकी के बाद अगर किसी तरह की कार्रवाई होती है तो रूस भी इस लड़ाई में शामिल हो सकता है। रूसी समाचार एजेंसी आरआईए नोवोस्ती ने विक्टर ओज़ेरॉव के हवाले से लिखा है कि रूस के सुदूर पूर्वी इलाके फ़ार ईस्ट में हाई अलर्ट घोषित किया गया है।

 माना जा रहा है कि रूस इस लड़ाई में से चिंतित है, रूस को ख़तरा है। हालाँकि कहा गया है रूस पूर्वी क्षेत्र की सुरक्षा के लिए यह कदम उठाया है। वहीँ दोनों देशों के बीच बने विवाद पर रूस की सरकारी मीडिया टेस की रिपोर्ट में कहा गया है कि रूस ऐसी उम्मीद करता है कि अमरीका ऐसे कदम उठाने से बचेगा जो उत्तर कोरिया को ख़तरनाक कार्रवाई करने के लिए भड़का दें।

साथ ही अमेरिका एक जिम्मेदार देश है। वह किसी भी कार्रवाई से पहले विचार करेगा। वहीँ नार्थ कोरिया लगातार अमेरिका को धमका रहा है, हाल ही में उसने गुआम पर हमला करने का प्लान सार्वजनिक किया हुआ है, जिससे अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के बीच सैन्य संघर्ष की संभावना बढ़ गयी है।  

loading...