Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • रूसी तट के पास गैस से भरे 2 पोत में आग लगने से 11 की मौत, 15 भारतीय भी थे सवार
  • जम्मू-कश्मीर: भारी बर्फबारी के बीच सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट, 24 घंटे में 5 आतंकी ढेर
  • वाराणसी: 15वे प्रवासी सम्मेलन में पीएम मोदी, लोग पहले कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता. हमने इस सोच को ही बदल डाला
  • नेपाल ने लगाया 2000, 500 और 200 रुपए के भारतीय नोटों पर बैन

कौन हैं अमेरिका की पहली मुस्लिम महिला सांसद, शपथ लेते ही ट्रंप को दी ‘मां की गाली’

वॉशिंगटन: दुनिया के सबसे शक्तिशाली देशों में से एक अमेरिका का हालिया राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चुनाव प्रचार से लेकर राष्ट्रपति बनने तक आलोचनाओं का शिकार होते रहे, जबकि राष्ट्रपति बनने के बाद भी ट्रंप अपने आप को आलोचनाओं से दूर नहीं रख सके। अन्य देशों की तो बात ही अलग है, ट्रंप की आलोचनाओं अमेरिकी नेता से लेकर अभिनेता और जनता भी करती रहती है।

इस बीच हाल ही में अमेरिका में (गुरुवार) 116 कांग्रेस ने शपथ लेकर इतिहास बना दिया। शपथ लेने वाले सदस्यों में दो मुस्लिम महिला राशिदा तालिब और इल्हान उमर भी हैं। लेकिन डेमोक्रेटिक पार्टी की राशिदा तालिब शपथ लेने के तुरंत बाद राष्ट्रपति के के लिए कुछ ऐसा कह दिया, जिसके कारण वह चर्चा में आ गई।

शपथ लेने के बाद राशिदा तालिब ने न सिर्फ अमेरिकी राष्ट्रपति के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल किया बल्कि उन्हें ‘मां की गाली’ भी दे दी। आपको बता दें कि अमेरिका मे इन दिनों मेक्सिको-अमेरिका बॉडर्र वॉल को लेकर सत्ताधारी रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक के बीच खींचतान चल रही है।

वहीं शपथ लेने के बाद एक कार्यकर्रम के दौरान डेमोक्रेटिक सदस्य राशिदा तालिब ने कहा कि, “जब आपका बच्चा आपकी तरफ देखकर कहता है, मां देखो, आप आप जीत गई हैं। गुंडे नहीं जीते। तब मैंने कहा- बेटा वे जीत भी नहीं सकते। क्योंकि अब हम कांग्रेस के अंदर जा रहे है, हम माद*** को बाहर निकालने के लिए जा रहे हैं।”

राशिदा तालिब के इस बयान पर एक ओर अमेरिका में घमाजान जारी है, डेमोक्रेटिक पार्टी के अनुसार पर सवाल खडे किए जा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ दो बच्चों की मां राशिदा तालिब अपने बयान पर कायम रहते हुए कहा कि, “मैं हमेशा सत्ता के लिए सच्च बोलूंगी।” बता दें कि राशिदा तालिब ने अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत 2004 में की और वह साल 2016 में राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ चुनावी अभियान में शामिल हुईं।

राशिदा तालिब फिलीस्तीन मूल की अमेरिकी नागरिक हैं जो तालिब मिशिगन से चुनी गई हैं। जीत के बाद तालिब ने कहा था कि, “मैं कभी भी किनारे पर खड़ी होने वालों में से नही रही हूं। मैंनें अन्याय और अपने बच्चों के कारण चुनाव में हिस्सा लिया है, जो उनकी मुस्लिम पहचान पर सवाल उठा रहे थे।”

इससे पहले राशिदा तालिब उस समय काफी चर्चा में थी जब उन्होंने अपने एक ट्वीट के माध्यम से ट्रंप पर हमला बोलते हुए कहा था कि, वह राष्ट्रपति के खिलाफ महावियोग लगाने के लिए चुनाव लड़ रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, शपथ लेने के बाद भी उन्होंने अपमे समर्थकों से ट्रंप के खिलाफ महावियोग लगाने की बात कही।

loading...