Breaking News
  • सोनभद्र जमीन मामले में अब तक 26 आरोपी गिरफ्तार, प्रियंका करेंगी मुलाकात
  • वेस्टइंडीज दौरे के लिए रविवार को 11:30 बजे होगा टीम इंडिया का चयन
  • बिहार : बाढ़ से अब तक 83 लोगों की मौत
  • कर्नाटक में आज दोपहर डेढ़ बजे तक सरकार को साबित करना होगा बहुमत

बिश्केक: किर्गिस्तान में आयोजित शंघाई कॉपरेशन ऑर्गनाइजेशन समिट (SCO) के दूसरे दिन भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान से दूरी बरकरार रखा। शुक्रवार को समिट में फोटो सेशन का आयोजन किया गाय। जिसमें शामिल हुए मोदी ने सभी सदस्य देशों के नेताओं के साथ फोटों खिचवाएं लेकिन उन्होंने पहले दिन की तरह दूसरे दिन भी इमरान से दूरी बनाए रखा।

फोटो शूट के दौरान जब एससीओ सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों को संयुक्त तौर पर बुलाया गया तो पीएम मोदी चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ चल रहे थे, जबकि इमरान खान इस दौरान बाकी नेताओं के साथ पीछे थे। फोटो खिंचाने के दौरान मोदी मंच पर सबसे किनारे खड़े हुए। वहीं फोटो खिंचाने के बाद मोदी अगल-बगल खड़े नेताओं के साथ इमरान को नजरअंदाजा करते हुए अन्य साथियों के साथ आगे निकल गए।

इससे पहले समिट के पहले दिन मोदी ने मुख्य कार्यक्रम से इतर चीन, रूस और अफगानिस्तान के साथ द्विपक्षीय वार्ता की लेकिन उन्होंने पाकिस्तानी पीएम के साथ वार्ता में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। सिर्फ वार्ता ही नहीं बल्कि मोदी ने पाकिस्तानी पीएम के साथ न तो हाथ मिलाया और न ही उनकी ओर देखा। जबकि इससे पहले पाकिस्तान ने भारत से वार्ता की अपील की थी।

वहीं सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि पाकिस्तान ने भारत द्वारा वार्ता से इंनकार किए जाने के बाद चीन से पैरवी करने की बात कही थी। जिसे चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने पीएम मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता के दौरान रखा, लेकिन मोदी ने फिलहाल पाकिस्तान के साथ किसी भी प्रकार की वार्ता से इनकार कर दिया। बता दें कि भारत सरकार ने पहले ही पाकिस्तान के साथ वार्ता की शर्त जाहिर कर दिए हैं।

दरअसल, पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद से परेशान भारत सरकार ने पहले ही साफ कर दिया है कि वह सभी पड़ोसी देशों के साथ बेहरत संबंध चाहता है, लेकिन इसके लिए पाकिस्तान को आतंकवाद का रास्ता छोड़ना होगा। और पाकिस्तान सरकार भारत सरकार के इस शर्त को पूरा करने में अब तक नाकाम रही है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, चीनी के साथ द्विपक्षीय वार्ता के दौरान पीएम मोदी ने चीनी राष्ट्रपति को साफ शब्दों में कहा कि पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा, वह नही मान रहा है। भारत-चीन के बीच द्वीवक्षीय वार्ता के दौरान आतंकवाद समेत अन्य कई मुद्दों पर गहन चर्चा हुई है। इस दौरान चीन ने भी भारत को आतंकवाद के खतरों से निपटने के लिए पूर्ण सहयोग का वादा किया है।

कार्यक्रम में फोटो शूट के दौरान पीएम मोदी ने इमरान से दूरी बनाए रखी। एससीओ सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों को जब संयुक्त तौर पर फोटोग्राफ खिंचाने के लिए बुलाया गया, तब मोदी चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ-साथ चल रहे थे, जबकि इमरान उस दौरान बाकी नेताओं के साथ पीछे थे।

loading...