Breaking News
  • बाढ़ और चक्रवात के खतरे में आने वाले ज़िलों में स्वंयसेवकों के प्रशिक्षण के लिए भी 'आपदा मित्र' नाम की पहल की गई है: पीएम
  • पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की तकनीक को उपयोगी बनाने का आग्रह किया
  • विदेश सचिव विजय गोखले ने की चीन के वित्त मंत्री से मुलाकात, द्विपक्षीय एजेंडे पर हुई चर्चा
  • मन की बात कार्यक्रम के 41वें संस्करण में बोले पीएम मोदी
  • 54 साल की उम्र में बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी का निधन
  • भारत की Aruna Reddy ने मेलबर्न Gymnastics World Cup में कांस्य पदक जिता

इस देश में पही बार पहुंच रहे हैं भारतीय PM- मोदी के नाम एक और माइल्ड स्टोन!

नई दिल्ली: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार से तीन दिनों के विदेश यात्रा पर है। अपने यात्रा के पहले पड़ाव पर पीएम फलस्तीन पहुंच रहे हैं, हालांकि इससे पहले पीएम जार्डन में रुके और यहां शाह अब्दुल्ला द्वितीय से मुलाकात की। इस यात्रा पर रवाना होने से पहले पीएम मोदी ने कहा कि, मैं पश्चिम एशिया और खाड़ी क्षेत्र के साथ भारत के बढ़ते और महत्वपूर्ण संबंधों को और मजबूत करने की आशा करता हूं।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के ऐसे पहले पीएम हैं जो फलस्तीन का दौरा कर रहे हैं। जिकसे कारण पीएम मोदी का यह दौरा एतिहासिक दौरा है, अपने दौरे के क्रम में पीएम यहा रामल्ला में दिवंगत यासर अराफात को श्रद्धांजलि देने के साथ ही उनके म्यूजियम का भी दौरा करेंगे।

‘मां’ ने दिया विचित्र बच्चे को जन्म- सही से दूध भी नही...

इसके बाद पीएम मोदी फलस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास समेत वहां के नेतृत्व के साथ आपसी संबंधों को लेकर चर्चा में शामिल होंगे। महमूद अब्बास पिछले साल मई महीने में भारत आए थे और जिस दौरान पीएम ने फलस्तीन के प्रति भारत के समर्थन का भरोसा दिलाया था। भारत का कहना है कि फलस्तीन के प्रति उसकी नीति में कोई बदलाव नहीं हुआ है.।

JK: सेना के कैंप पर बड़ा आतंकी हमला, कई जवान घायल

आपको बबता दें कि भारत ने हाल ही में संयुक्त राष्ट्र में मतदान के दौरान फलस्तीन के पक्ष में मतदान किया था। फलस्तीन दौरे के संबंध में पीएम मोदी ने कहा कि, मैं राष्ट्रपति महमूद अब्बास के साथ अपनी चर्चा और फलस्तीन की अवाम के प्रति भारत के समर्थन को दोहराने और फलस्तीन के विकास को लेकर आशावादी हूं।

तो वहीं पीएम मोदी के ऐतिहासिक दौरे से पहले वहां के राष्‍ट्रपति महमूद अब्बास ने जोर देते हुए कहा कि भारत और फलस्तीन के बीच पुराना संबंध है और यह दौरा दोनों देशों के इस ऐतिहासिक संबंध को और भी मजबूती देगा। पश्चिम एशिया के देशों की शांति में भारत की महत्वपूर्ण भूमिका का जिक्र करते हुए उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि, हम पीएम मोदी के साथ हाल के घटनाक्रमों पर चर्चा करेंगे।

अयोध्या विवाद पर मुस्लिम नेता ने कहा, कुर्बान होने के लिए तैयार है देश मुस्लिम?

उन्होंने कबा कि शांति प्रक्रिया, द्विपक्षीय संबंघों और क्षेत्र की स्थिति के साथ-साथ शांति बहाली में भारत की संभावित भूमिका पर भी बातचीत होगी और हम अंतरराष्ट्रीय सहमति और प्रस्ताव के जरिए पश्चिम एशिया शांति प्रक्रिया के अंतिम समझौते तक पहुंचने में भारत की संभावित भूमिका को बेहद अहम मानते हैं।

loading...