Breaking News
  • सोनभद्र जाने पर अड़ी प्रियंका गांधी, धरने का दूसरा दिन
  • असम और बिहार में बाढ़ से 150 लोगों की गई जान, 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित
  • इलाहाबाद हाइकोर्ट ने पीएम मोदी को जारी किया नोटिस, 21 अगस्त को सुनवाई
  • कर्नाटक पर फैसले के लिए अब सोमवार का इंतजार

पाकिस्तान करता रह गया इंतजार और इस रास्ते से किर्गिस्तान निकले गए मोदी

नई दिल्ली: आम चुनाव में मिली ऐतिहासिक बहुमत के साथ लगातार दूसरी बार सत्ता में आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी दूसरी विदेश यात्रा पर गुरुवार को किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक के लिए रवाना हो चुके हैं। अपने दौरे के क्रम में मोदी दो दिवसीय शंघाई सहयोग संगठन यानी एससीओ शिखर सम्मेलन में शामिल होने के साथ ही संगठन में शामिल कुछ देशों के साथ द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे।

दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद मोदी अपनी पहली विदेश यात्रा पर मालदीव व श्रीलंका का दौरा किया था, इस दौरान उन्होंने आतंकवाद पर गहरी चोट की और बिना नाम लिए पाकिस्तान व चीन पर निशाना साधा। मालदीव की संसद को संबोधित करते हुए मोदी ने आतंकवादी फंडिग पर चोट करने के साथ ही गुड और बैड टेररिज्म पर भी गहरा प्रहार किया।

वहीं अब एससीओ बैठक के लिए बिश्केक रवाना होने से पहले भारत सरकार ने एक ऐसा निर्णय लिया है, जिससे पता चलता है कि इस दौरान भी मोदी आतंकवाद पर चोट करेंगे। दरअसल, प्रधानमंत्री मोदी किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक जाने के लिए पाकिस्तानी एयर स्पेश का इस्तेमाल नहीं करने का फैसला लिया है। विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री पाकिस्तानी एयर स्पेश का इस्तेमाल न कर ओमान, ईरान और मध्य एशिया के रास्ते बिश्केक पहुंचेंगे।

आपको बता दें कि पुलवामा हमले के बाद भारत द्ववारा पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों पर किए गए एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपना एयर स्पेद बंद कर दिया था, जिसके कारण विदेश किर्गिस्तान व कुछ अन्य देशों में की यात्रा के लिए भारतीयों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा है। चंद घंटे की सफर के लिए कई घंटों का वक्त लग रहा है। मोदी अगर पाकिस्तान के रास्ते किर्गिस्तान की यात्रा करते तो वह महमज साढ़े तीन घंटे में बिश्केक पहुंच सकते थे, लेकिन अब इस यात्रा के लिए करीह साढ़े 6 घंटे का समय लगेगा।

हालांकि पीएम मोदी की किर्गिस्तान यात्रा के लिए पाकिस्तान रास्ता देने को तैयार था, लेकिन भारत सरकार ने लेने से इंकार कर दिया। ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि एससीओ शिखर सम्मेलन में मोदी का पाकिस्तान के प्रति क्या रूख होता है। पूरी दुनिया की निगाहें एससीओ बैठक पर टिकी है जब मोदी और इमरान का सामना होगा। बता दें कि इस बैठक में भारतीय पीएम के अलावा पाकिस्तानी पीएम इमरान खान और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग समेत अन्य देशों के सदस्या शामिल हो रहे हैं।

loading...