Breaking News
  • आज शाम 6 बजे तक खत्म हो सकता है कर्नाटक का नाटक, कुमारस्वामी करेंगे फ्लोर टेस्ट
  • बिहार के दरभंगा में अभी भी बाढ़ से राहत नहीं, लोगों ने सड़क पर ठिकाना
  • आज होगा ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री का चयन
  • बीजेपी संसदीय दल की बैठक के बाद, पीएम मोदी कर सकते हैं सांसदों को संबोधित

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद टूटी ISI की कमर, आतंकियों के आका की कुर्सी पर आंच

नई दिल्ली: भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में घुसकर आतंकियों को भारी नुकसान पहुंचाने वाले सर्जिकल स्ट्राइक को अब तक पाकिस्तान ने खुले तौर पर स्वीकार तो नहीं किया है, लेकिन इसका असर साफ तौर पर देखा जा सकता है।

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान पूरी तकह से सकते में आ गया है, और एक के बाद एक कई उच्चस्तरीय बैठक के बाद ऐसी खबरे है कि स्ट्राइक का जवाब में पाकिस्तान की सरकार अपने खुफिया एजेंसी आईएसआई के डीजी पर गाज गिरा कर देने की तैयारी में है।

आतंकी ठिकानों पर भारतीय सेना के हमले के बाद पाकिस्तान में भी आतंकियों के खिलाफ एक जबरदस्त विरोध खड़ा हो चुका है। पीओके समेत पाकिस्तान के कई हिस्सों के आतिंयों के खात्में कि आवाजें उठने लगी है।

मीडिया रिपोर्टों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार देश में बढ़ते बवाल को देखते हुए आर्मी चीफ ने आतंकियों के खिलाफ कार्यवाई करने की बात कही तो देश का शीर्ष नेतृत्व अपने खुफिया एजेंसी आईएसआई को पूरी तरह से बदने की राह पर चल पड़ी है।

और इस बदलाव के क्रम में सबसे पहली गाज पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के डीजी रिजवान अख्तर पर गिरने वाली है। पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार आईएसआई के डीजी को जल्द ही हटाए जा सकता है। खबरों के अनुसार इसके लिए प्रक्रिया शुरू भी कर दी गई है।

हालांकि पाकिस्तानी सेना ने आधिकारिक तौर पर फिलहाल किसी ऐसे बदलाव से इनकार कर दिया है। बता दें कि रिजवान अख्तर को 2014 में ISI की कमान सौंपी गई थी। ISI वह पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी है जो आतंकियों को हर कदम पर सपोर्ट करती है और उसे अपनी सुरक्षा में सरण देने का काम करती है।

loading...