Breaking News
  • टेररिस्तान, आतंक के लिए करता है अपनी सरजमीं का इस्तेमाल- भारत
  • पाकिस्तानी आतंकवाद पर भारत ने UNGA में दिया करारा जवाब कहा
  • पाकिस्तान ने पहली बार कुबूले घुसपैठियों के शव
  • पीएम नरेंद्र मोदी दो दिनों के वाराणसी दौरे पर
  • कोलकाता वनडे: भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 50 रनों से हराया, 2-0 से आगे

पाकिस्तान ने अमेरिका को धमकाया, कहा मेरे पास ‘बड़ा भाई चीन’ है?

इस्लामाबाद: आतंकवाद का समर्थन करने को लेकर अमेरिका द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ लगाए जा रहे आर्थिक प्रतिबंधों पर अब पाकिस्तानी पीएम शहीद खाकन अब्बासी ने अमेरिका को चेतावनी दी है। पाकिस्तान ने कहा है कि अमेरिका के इस कदम से आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई कमजोर पड़ सकती है। इसके साथ ही पाकिस्तान ने चीन का विकल्प खुला होने की भी बात कही है।

बतादें कि आतंकियों को पनाह देने और आतंकवाद के खिलाफ झूठी लड़ाई का लड़ने वाले पाकिस्तान के खिलाफ अमेरिका ने जैसे ही आर्थिक कार्रवाई की तो पाक्सितन की बिलबिलाहट शुरू हो गयी है। अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाले करोड़ो डॉलर की मदद को बंद कर दिया है। इसी बात से खीजे पाकिस्तान ने अमेरिका को चीन की धमकी देते हुए कहा है कि अमेरिका के इस कदम से पाकिस्तान की आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई कमजोर पड़ जाएगी।

रेपिस्ट राम रहीम के इस वीडियों को देख आप जहर खाने को हो जाएंगे मजबूर...

पाकिस्तानी पीएम शहीद खाकन अब्बासी ने कहा कि इससे दोनों देशों की आतंकवाद के खिलाफ जारी लडाई पर भी असर पडेगा। अब्बासी ने कहा कि हम आतंकवाद के खिलाफ युद्ध लड़ रहे हैं, ऐसे में अमेरिका का प्रतिबंध इसमें आड़े आयेगा। इसके साथ ही पाकिस्तान ने कहा कि अगर अमेरिका अपना हाथ खीचेगा तो चीन का विकल्प उसके लिए खुला है। ऐसे में माना जा रहा है कि पाकिस्तान ने अमेरिका को चीन की धमकी दी है।

रायन इंटरनेशनल: बच्चे की मौत पर मालिकों में खलबली- हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका

आपको ज्ञात को हो कि अमेरिकी नये प्रशासन ने अपनी नये अफगानिस्तान निति की तहत पाकिस्तान को दी जाने वाली मदद पर शर्ते लगा दी हैं। इसके साथ ही आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई का दिखावा करने वाले पाकिस्तान को जमकर लताड़ भी लगाई है। अमेरिका पाकिस्तान को आतंकवाद से लड़ने के लिए अरबों डॉलर की आर्थिक मदद देता आरहा था, लेकिन अब अमेरिका ने पाकिस्तान से आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के सबूत भी देने को कहा है।   

यह भी देखें- 

loading...