Breaking News
  • बिहारः मुठभेड़ में खगड़िया के पसराहा थाना अध्यक्ष आशीष कुमार सिंह शहीद
  • J-K: पुलवामा में सुरक्षा बलों ने हिजबुल के एक आतंकी को मार गिराया
  • दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत 82.66 रुपए प्रति लीटर, डीजल 75.19 रुपए प्रति लीटर
  • J-K:स्थानीय निकाय चुनाव के लिए तीसरे चरण की वोटिंग जारी

आतंकी हाफिज पर पाक सरकार का एक और बड़ा प्रहार, मदरसों पर लगाम!

इस्लामाबाद: मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड और जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद पर पाकिस्तान ने एक और एक्शन लिया है। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने हाफिज के कई मदरसे और स्वास्थ्य केन्द्रों को अपने नियंत्रण में लेना शुरू कर दिया है। इससे पहले पाकिस्तान ने जमात उद दावा और हाफिज सईद को आतंकी घोषित कर चुका है।

बतादें कि भारत और अमेरिका द्वारा आतंकवाद पर पाकिस्तान को घेरने के बाद से लगातार पाक पर दवाब बन रहा है, भारत के दवाब में आकर मोस्टवांटेड और मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद पर पाकिस्तान में दो दिन में दूसरी बड़ी कार्रवाई की गयी है। पाकिस्तानी मीडिया में जारी ख़बरों की माने तो पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने हाफिज सईद के खिलाफ अब एक्शन लिया है। जारी खबरों में बताया जा रहा है कि आतंकी हाफिज सईद द्वारा संचालित मदरसे और स्वास्थ्य केद्रों को सरकार अपने नियंत्रण में लेने की कवायद शुरू कर दी है।

11 माह से CM केजरीवाल ने ट्विटर पर मोदी से किया तौबा, नहीं आया कोई ट्वीट

पाक सरकार द्वारा यह कदम तब उठाया जा रहा जब पिछले महीने ही एक उच्च स्तरीय यूनाइटेड नेशन प्रतिनिधि मंडल ने पाकिस्तान का दौरा कर उन लोगों और समूहों के खिलाफ पाक द्वारा की गयी कार्रवाई की प्रगति का जायजा लिया था जिनके खिलाफ विश्व समुदाय द्वारा बैन लगाया गया है। मीडिया में पंजाब सरकार के हवाले से बताया जा रहा है कि हाफिज के गढ़ माने जाने वाले रावलपिंडी जिला प्रशासन द्वारा जमात उद दावा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन कि देखरेख में चलने वाले मदरसे और चार स्वास्थ्य केन्द्रों को अपने नियंत्रण में लिया गया है। इसके साथ ही प्रशासन कई अन्य मदरसे और धार्मिक सम्पतियों को रडार पर लिए हैं।

साल का दूसरा ग्रहण: जब लगेगा सूर्य ग्रहण, भारत मे होगी रात!

ज्ञात हो कि मंगलवार को ही खबर लगी थी पाकिस्तानी राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने एक ऐसे अध्यादेश पर साइन किये है जिसमें हाफिज सईद के संगठन जमात उद दावा को आतंकी माना गया है। पाकिस्तान की इन सब कार्रवाईयों की वजह फ्रांस में होने वाली फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स' की बैठक को माना जा रहा है। पाक को डर है कि अमेरिका के दवाब में यह संस्था पाकिस्तान को ग्रे (निचली) सूची में न डाल दे।

यह भी देखें-

loading...