Breaking News
  • कानपुर और कानपुर देहात में ज़हरीली शराब पीने से 9 लोगों की मौत, 18 की हालत गंभीर
  • छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा नक्सली हमले में 6 पुलिसकर्मी शहीद, 1 घायल
  • रूस दौरे पर रवाना हुए पीएम मोदी, रूसी राष्ट्रपति के साथ अनौपचारिक बैठक

बड़ी खबर: नवाज शरीफ के खुलासे के बाद 26/11 पर फिर शुरू हुई सुनवाई, नप जाएगा हाफिज?

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ द्वारा मुंबई हमलों को लेकर किये गये कबूलनामे के बाद पाकिस्तान में इस मामले की फिर से सुनवाई शुरू हो गयी है। जिसके लिए पाकिस्तानी अदालत ने अभियोजन गावों को बयान दर्ज करने के लिए बुलाया है। जिससे मामले की सुनवाई को पूरा किया जा सके।

बतादें कि पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ ने हाल ही में एक अखबार को दिए इन्टरव्यू में इस बात को कबूल किया था कि मुंबई पर हुआ 26/11 का हमला पाकिस्तान की सरकार की सह और मिली भगत से हुआ था। पाक पूर्व पीएम के खुलासे के बाद यहाँ की पाकिस्तान की आतंकरोधी अदालत (एटीसी) ने इस मामले की दुबारा सुनवाई शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि इस मामले में करीब दस साल के बाद नया मोड़ आने पर मामले की सुनवाई फिर से शुरू हुई है।

वहीँ बुधवार को कोर्ट ने इस मामले के अभियोजन पक्ष को बयानों के साथ पेश होने को कहा है। पाकिस्तानी मीडिया में जारी खबरों में बताया गया है कि एटीएस कोर्ट ने सरकारी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि 27 भारतीय गवाहों की मौजूदगी के संबंध में सभी जानकारियां कोर्ट को दी जाएं। एटीसी कोर्ट ने कहा कि इस मामले की सुनवाई अपने आखिरी चरण में है जिसके लिए एफआईए के डायरेक्टर जनरल, गृह मंत्री और विदेश मंत्री को नोटिस जारी किया गया था कि वे अपना ठोस और आखिर जवाब कोर्ट में दर्ज करें और 27 भारतीय गवाहों की मौजूदगी के बारे में भी बताएं ताकि सुनवाई को जल्द से जल्द पूरा किया जा सके।

कर्नाटक: 24 घंटे में गिर जाएगी येदियुरप्पा सरकार, SC ने माँगा है कुछ ऐसा?

SC/ST एक्ट पर कोर्ट की गंभीर टिप्पणी: कहा जीने के अधिकार को नहीं छीना जा सकता?

यह सुनवाई फिर से शुरू हुई है। इससे पहले पाकिस्तान में 26/11 मामले की सुनवाई बंद हो गयी थी, लेकिन हाल ही में पाक के पूर्व पीएम ने कबूला था कि मुंबई में हुआ 26/11 का हमला पाक सरकार और सेना की मिलीभगत से ही कराया गया था। इससे पहले पाकिस्तान 26/11 मुंबई हमले पर आतंकियों को पाकिस्तानी भी मानने पर राजी नहीं था, लेकिन जब पाकिस्तान के पुर्व पीएम ने ही इस बात का कबूलनामा कर लिया कि यह हमला पाक सरकार की मिलीभगत से हुआ था।  

यह भी देखें-

loading...