Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

सांप्रदायिक हिंसा को लेकर एक बार फिर देश में लगा कर्फ्यू, उल्लंघन करने वाले को खौफनाक सज़ा

नई दिल्ली : श्रीलंका में एक बार फिर हिंसात्मक घटना थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिस वज़ह देश में कर्फ्यू लगा दी गई है। कर्फ्यू उल्लंघन करने वाले को श्रीलंका सरकार ने देखते ही गोली मारने का आदेश दिया है। आपको बता दें कि आज से कुछ दिनों पहले ही यानी 21 अप्रैल को ईस्टर के मौके पर श्रीलंका क तीन प्रमुख चर्चों और होटलों में आत्मघाती हमले किये थे, जिसमें करीब 260 से अधिक लोग मरे और 500 से अधिक लोग घायल हुए। जिसके बाद श्रीलंका सरकार की तऱफ से आम नागरिकों शांति व्यवस्था बनाए रखने को कहा गया। लेकिन यह आदेश बस आदेश तक ही सीमित रह गया।

एक बार फिर जारी हुई इस हिंसा के बाद देश में सोशल मीडिया पर भी पाबंदी लगा दी गई है। आपको बता दें कि यह हिंसा एक मुस्लिम दुकानदार के फेसबुक पोस्ट करने के बाद हुआ था। बता दें कि फेसबुक और व्हाट्सएप पर प्रतिबंध से एक दिन पहले श्रीलंकाई पुलिस ने रविवार को देश के पश्चिम तटीय शहर चिलॉ में भीड़ द्वारा एक मस्जिद और मुस्लिमों की कुछ दुकानों पर हमला किए जाने के बाद तत्काल प्रभाव से कर्फ्यू लगा दिया था। इस कर्फ्यू के बीद एक पुलिस प्रवक्ता ने कहा, ‘‘आज रात नौ बजे से कल तड़के चार बजे तक के लिए कर्फ्यू लगाया गया है।’’

सेना प्रमुख महेश सेनानायक ने कहा कि सैनिकों को कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों से कड़ाई से निपटने का निर्देश दिया गया है। यदि कोई कर्फ्यू का उल्लंघन करता है तो सेना उसे देखते ही गोली मार देगी।

रविवार को प्रशासन ने सामुदायिक हिंसा के बाद उत्तर पश्चिमी क्षेत्र के चार शहरों कुलियापिटिया, हेटिपोला, बिंगिरिया और डूमलसूरिया में कर्फ्यू हटाने के कुछ घंटों बाद फिर सोमवार तड़के चार बजे तक के लिए कर्फ्यू लागू कर दिया गया। इसके बाद पूरे उत्तर और पश्चिम प्रांत में भी कर्फ्यू लगा दिय गया। प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे ने भी खासकर करुनेगला जिले में अशांति फैलने के बाद लोगों से शांति की अपील की।

loading...